समाचार
अग्नि-5 बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण, 5,000 किमी तक मार करने की क्षमता

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने बुधवार (27 अक्टूबर) को सतह से सतह पर वार करने की क्षमता वाली अपनी अग्नि-5 बैलिस्टिक मिसाइल का सफल परीक्षण किया। यह परीक्षण ओडिशा के अब्दुल कलाम द्वीप पर किया गया।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, अग्नि-5 मिसाइल की क्षमता 5,000 किलोमीटर तक मार करने की बताई जा रही है। इसमें तीन चरण में संचालित होने वाला ठोस ईधन इंजन लगाया गया है।

रक्षा मंत्रालय के अनुसार, यह परीक्षण शाम 7.50 बजे किया गया। इस अंतर-महाद्वीपीय बैलिस्टिक मिसाइल का वजन 50,000 किलोग्राम है। यह 17.5 मीटर लंबी है। इसका व्यास 6.7 फीट है।

इसके ऊपर 1500 किलोग्राम वजन का परमाणु हथियार लगाया जा सकता है। यह ध्वनि की गति से 24 गुना अधिक है। यह एक सेकेंड में 8.16 किलोमीटर की दूरी तय कर सकती है। इस मिसाइल को डीआरडीओ और भारत डायनेमिक्स लिमिटेड ने संयुक्त रूप से विकसित किया है।

जानकारी के मुताबिक, अग्नि-5 की एमआईआरवी तकनीक भी काफी विशेष है, जिस वजह से इसके वॉरहेड पर एक के स्थान पर कई हथियार लगाए जा सकते हैं। ऐसे में मिसाइल एक बार में कई लक्ष्यों को भेद सकती है। कहा जा रहा है कि इससे पूरे एशिया, यूरोप, अफ्रीका के कुछ भागों तक हमला किया जा सकता है।