समाचार
यूपीआई ने जुलाई में 6.06 लाख करोड़ रुपये के 324 करोड़ लेन-देन का बनाया कीर्तिमान

भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (एनपीसीआई) के प्रमुख भुगतान मंच यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (यूपीआई) ने जुलाई 2021 में 6 लाख करोड़ रुपये से अधिक मूल्य के 300 करोड़ (3 अरब) से अधिक के मासिक लेन-देन की सीमा को तोड़कर नया कीर्तिमान बनाया।

एनपीसीआई द्वारा उपलब्ध कराए गए आँकड़ों के अनुसार, यूपीआई ने जुलाई में 6.06 लाख करोड़ रुपये के 324 करोड़ लेन-देन किए। जून 2021 में 5.47 लाख करोड़ रुपये के 280 करोड़ लेन-देन किए थे।

2016 में लॉन्च किए गए यूपीआई ने अक्टूबर 2019 में पहली बार एक अरब लेन-देन को पार किया था। एक महीने में एक अरब लेन-देन तक पहुँचने में यूपीआई को तीन वर्ष लगे थे, जबकि अगले एक अरब लेन-देन सिर्फ एक वर्ष के अंदर आए। अक्टूबर 2020 में यूपीआई ने पहली बार दो अरब से अधिक लेन-देन संसाधित किए थे।

तत्काल भुगतान सेवा (आईएमपीएस) ने जुलाई में 3.09 लाख करोड़ रुपये के 34.97 करोड़ लेन-देन किए। यह पहली बार था जब आईएमपीएस ने भी तीन लाख करोड़ रुपये का आँकड़ा पार किया है। जून में यह आँखड़ा 2.84 लाख करोड़ रुपये का था।

फास्टैग ने जून में कुल 2,576.28 करोड़ रुपये के 15.78 करोड़ लेन-देन की तुलना में 2,976.39 करोड़ रुपये के 19.23 करोड़ लेन-देन दर्ज किए।

आरबीआई के डिजिटल भुगतान सूचकांक (डीपीआई) से जानकारी मिलती है कि मार्च 2021 का सूचकांक मार्च 2020 के 207.94 की तुलना में 270.59 था, जो महामारी की शुरुआत के बाद से देश में डिजिटल भुगतान को बड़े पैमाने पर अपनाने को दर्शाता है।