समाचार
स्विट्ज़रलैंड ने भारत को समझौते के तहत दी भारतीय खाताधारकों की तीसरी सूची

भारत को एक वार्षिक अभ्यास के हिस्से के रूप में स्विट्ज़रलैंड के साथ सूचना के स्वत: आदान-प्रदान समझौते के तहत अपने नागरिकों के स्विस बैंक खाते के विवरण की तीसरी सूची प्राप्त हुई। इसके तहत यूरोपीय देश ने 96 देशों के साथ लगभग 33 लाख वित्तीय खातों की जानकारियाँ साझा की हैं।

फेडरल टैक्स एडमिनिस्ट्रेशन (एफटीए) ने सोमवार को एक बयान में कहा कि इस वर्ष सूचनाओं के आदान-प्रदान में 10 और देश सम्मिलित किए गए हैं। इनमें एंटीगुआ व बारबुडा, अजरबैजान, डोमिनिका, घाना, लेबनान, मकाऊ, पाकिस्तान, कतर, समोआ और वुआतू हैं।

हालाँकि, एफटीए ने सभी 96 देशों के नाम और आगे के विवरण का खुलासा नहीं किया है। अधिकारियों ने कहा कि भारत उन देशों में सम्मिलित है, जिन्हें लगातार तीसरे वर्ष सूचना मिली है और भारतीय अधिकारियों के साथ साझा किए गए विवरण स्विस वित्तीय संस्थानों में बड़ी संख्या में व्यक्तियों और कंपनियों के खाते से संबंधित हैं।

यह आदान-प्रदान गत माह हुआ था और सूचना की अगली सूची स्विट्ज़रलैंड द्वारा सितंबर 2022 में साझा की जाएगी।

भारत को सितंबर 2019 में एईओआई (सूचना का स्वचालित आदान-प्रदान) के तहत स्विट्ज़रलैंड से विवरण की पहला सूची प्राप्त हुई थी। उस वर्ष ऐसी जानकारी प्राप्त करने वाले 75 देशों में भारत सम्मिलित था।