समाचार
भारत ने 2020-21 में ₹8434.84 करोड़ के रक्षा उपकरणों का निर्यात किया- रक्षा मंत्रालय

रक्षा मंत्रालय ने सोमवार को संसद में एक सवाल के जवाब में कहा कि भारत ने 2014-15 में 1,940.64 करोड़ रुपये की तुलना में 2020-21 में 8,434.84 करोड़ रुपये के रक्षा उपकरणों का निर्यात किया।

रक्षा निर्यात को बढ़ावा देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा उठाए गए कदमों में विशेष रसायन, जीव, सामग्री, उपकरण और प्रौद्योगिकी (स्कोमेट) सूची के एक हिस्से को रद्द करना सम्मिलित है।

कुछ अन्य उपायों में निर्यात संबंधी कार्रवाई में समन्वय व अनुवर्ती कार्रवाई हेतु रक्षा उत्पादन विभाग में एक अलग कार्यालय का निर्माण सम्मिलित है। इसमें विभिन्न देशों से प्राप्त जानकारी, निजी व सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों के साथ नेतृत्व साझा करना, निर्यात को सुविधाजनक बनाना और जिन देशों से वे जुड़े हैं, वहाँ सार्वजनिक व निजी दोनों क्षेत्रों के भारत निर्मित रक्षा उत्पादों के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए कार्यवाही करने हेतु रक्षा संलग्नक को वित्तीय सहायता प्रदान करने की एक योजना सम्मिलित है।

प्रधानमंत्री ने भारतीय कंपनियों से विदेशी स्रोतों वाले हथियारों और हथियारों पर भारत की निर्भरता को कम करने के लिए सैन्य हार्डवेयर का उत्पादन करने का आग्रह किया।

मंत्रालय ने संसद में एक अन्य प्रश्न के जवाब में कहा कि घरेलू हार्डवेयर उत्पादन को बढ़ावा देने हेतु सरकार द्वारा उठाए गए कदमों में रक्षा खरीद प्रक्रिया 2020 में रक्षा खरीद नीति का संशोधन था।

आगे कहा गया, “रक्षा मंत्रालय ने कुल 209 वस्तुओं की दो सकारात्मक स्वदेशीकरण सूची को अधिसूचित किया, जिसके लिए उनके विरुद्ध संकेतित समय सीमा से परे आयात पर प्रतिबंध होगा। यह रक्षा में आत्मनिर्भरता की दिशा में एक बड़ा कदम है।”

सरकार ने कहा, “यह भारतीय रक्षा उद्योग को सशस्त्र बलों की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए अपने स्वयं के डिजाइन और विकास क्षमताओं का उपयोग करके इन वस्तुओं के निर्माण का एक बड़ा अवसर प्रदान करेगा।”