समाचार
हाफिज़ सईद के पुत्र हाफिज़ तल्हा सईद को केंद्र सरकार ने आतंकवादी घोषित किया

मुंबई में 26/11 के आतंकी हमले के मास्टरमाइंड और लश्कर के संस्थापक हाफिज़ सईद के पुत्र हाफिज़ तलहा सईद को केंद्र सरकार ने आतंकवादी घोषित कर दिया।

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक अधिसूचना में बताया कि 46 वर्षीय हाफिज़ तलहा सईद भारत और अफगानिस्तान में भारतीय हितों पर निशाना साधने के लिए लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) द्वारा भर्ती, धन संग्रह, योजना बनाने व हमलों को अंजाम देने में सक्रिय रूप से सम्मिलित रहा है।

कहा गया कि वह पूरे पाकिस्तान में लश्कर-ए-तैयबा के विभिन्न केंद्रों का सक्रिय रूप से दौरा कर रहा है। साथ ही अपने उपदेशों से भारत, इज़राइल, अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों में भारतीय हितों के विरुद्ध जिहाद का प्रचार कर रहा है।

अधिसूचना में कहा गया, “केंद्र सरकार का मानना ​​है कि हाफिज़ तल्हा सईद आतंकवाद में सम्मिलित है। उसे गैरकानूनी गतिविधियाँ (रोकथाम) अधिनियम, 1967 (1967 का 37) के तहत एक आतंकवादी के रूप में अधिसूचित किया जाना चाहिए।”

26 नवंबर 2008 को मुंबई में हुए आतंकी हमले के पीछे हाफिज़ सईद का हाथ था, जिसमें 166 लोग मारे गए थे। उसे कुछ वर्ष पूर्व इसी कानून के तहत आतंकवादी घोषित किया गया था और वर्तमान में वह पाकिस्तान में आतंकवादी आरोपों के चलते कारावास का सजा काट रहा है।

भारत लगातार हाफिज़ सईद की हिरासत की मांग करता रहा है लेकिन पाकिस्तान ने ऐसा करने से मना कर दिया है।

26/11 के हमलों के अतिरिक्त, लश्कर-ए-तैयबा भारत में कई घातक हमलों के लिए ज़िम्मेदार रहा है। इनमें अधिकतर जम्मू-कश्मीर में हैं, जिसमें गत कुछ वर्षों में कई नागरिक और सुरक्षाकर्मी मारे गए हैं।