समाचार
यूके जैसे हालात हुए तो भारत में आएँगे प्रतिदिन 14 लाख मामले- नीति आयोग की चेतावनी

नीति आयोग के एक शीर्ष अधिकारी के अनुसार, यदि भारत यूके जैसे नए कोविड-19 प्रकार के प्रकोप का सामना करता है तो देश एक दिन में लगभग 14 लाख मामले देख सकता है।

ओमिक्रॉन का नया प्रकार देश भर में संक्रमण में वृद्धि कर रहा है। ऐसे में यूके ने शुक्रवार को 93,045 नए कोरोनो के मामलों की सूचना दी, जो महामारी शुरू होने के बाद से सबसे अधिक दैनिक संख्या है।

सर्दियों के आने और क्रिसमस व नए साल के लिए यात्रा व पार्टी करने वाले लोगों को देखते हुए अधिकारियों ने कहा कि यदि ब्रिटेन और फ्रांस जैसे देशों में दैनिक मामलों को भारत की जनसंख्या के संदर्भ में जोड़ा जाए तो देश में दैनिक मामले बढ़कर 13-14 लाख प्रतिदिन हो सकते हैं।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, ओमिक्रॉन जैसे कोरोना के प्रकार के साथ महामारी तेज़ी से फैलती है, इस बात पर विशेष बल देते हुए नीति आयोग के सदस्य-स्वास्थ्य डॉ वी के पॉल ने कहा, “आप इस बात को जानते हैं कि अफ्रीका के कुछ हिस्सों के साथ यूरोप के कुछ हिस्सों में भी स्थिति बदतर हो गई है।”

उन्होंने कहा, “हमें प्रयास करना होगा, ताकि यहाँ ऐसी स्थिति न आए। इसके विपरीत, हमें ऐसी स्थिति का भी प्रभावी ढंग से सामना करने के लिए तैयार रहना होगा।”

उच्च टीकाकरण दर और कोरोना के डेल्टा प्रकार के संपर्क के बावजूद यूके ने गुरुवार को 80,000 से अधिक मामले दर्ज किए थे।

डॉ वीके पॉल के हवाले से कहा गया, “अगर भारत में इसी तरह का प्रकोप होता है तो हमारी जनसंख्या को देखते हुए हर दिन 14 लाख मामले आएँगे। इसी तरह, फ्रांस- जहाँ 80 प्रतिशत आंशिक टीकाकरण है- 65,000 मामलों की रिपोर्ट कर रहा है। अगर इसी तरह का प्रकोप भारत में होता है तो इसका मतलब हर दिन 13 लाख मामले आएँगे।”