समाचार
सपा सांसद पुष्पराज के 35 ठिकानों पर आयकर छापे, ₹20 करोड़ के झूठे दस्तावेज़ मिले

समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद व कन्नौज के इत्र व्यापारी पुष्पराज जैन उर्फ पम्पी जैन के ठिकानों पर आयकर विभाग को तीसरे दिन 10 करोड़ रुपये के झूठी खरीद और 10 करोड़ रुपये की झूठी प्रविष्टियाँ मिलीं। अब इनकी जाँच की जा रही है। इससे पहले, मध्य पूर्व से करीब 40 करोड़ रुपये के निवेश के दस्तावेज पाए गए थे।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, आयकर विभाग ने पुष्पराज जैन को हिरासत में ले लिया है। विभाग की टीम उन्हें कन्नौज से कानपुर ले आई है। साथ ही टीम अपने साथ कई बैगों में दस्तावेज भी ले गई है।

पम्पी जैन और मलिक ग्रुप के कानपुर, कन्नौज, लखनऊ, दिल्ली, मुंबई और हाथरस के 35 परिसरों पर आयकर विभाग ने छापेमारी की थी। कानपुर व लखनऊ सहित 15 परिसरों की जाँच पूर्ण हो चुकी है। रविवार को आठ और कार्यालय, गोदाम और कॉरपोरेट कार्यालयों की जाँच हुई। अब भी 12 स्थानों पर छानबीन चल रही है।

सूत्रों के मुताबिक, पम्पी जैन के मुंबई स्थित घर से 2 करोड़ रुपये पहले ही मिले थे। साथ ही मध्य पूर्व से लगभग 40 करोड़ के निवेश के प्रमाण मिले थे। जाँच में पता चला कि सपा सांसद ने कोलकाता की झूठी कंपनियों के माध्यम से 10 करोड़ रुपये की एंट्री ली थी। ये सभी कंपनियाँ झूठी पाई गई थीं। इसके अतिरिक्त, 10 करोड़ रुपये के झूठे खरीद-बिक्री के प्रमाण मिले थे।

जाँच में पता चला कि कागज़ों में कुल कारोबार में आधा लाभ और आधी बिक्री दिखाई जा रही थी। इसकी जाँच में बिल भी झूठे मिले। कानपुर स्थित पम्पी जैन के बहनोई के दोनों घर सील हैं, जिनकी जाँच चल रही। वहीं, मलिक समूह के यहाँ 3.5 करोड़ रुपये नकद मिलने के साथ ढेरों दस्तावेज़ सील कर दिए गए हैं।