समाचार
अडानी ग्रीन ने सॉफ्टबैंक की स्वच्छ ऊर्जा इकाई को 3.5 अरब डॉलर में खरीदा

अडानी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) ने आज घोषणा की कि उसने सॉफ्टबैंक की स्वच्छ ऊर्जा इकाई एसबी एनर्जी होल्डिंग्स लिमिटेड (एसबी एनर्जी इंडिया) का अधिग्रहण सफलतापूर्वक पूरा कर लिया। 18 मई 2021 को निश्चित समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए थे।

एसबी एनर्जी इंडिया, जो जापान स्थित सॉफ्टबैंक ग्रुप कॉर्प (80 प्रतिशत) और सुनील मित्तल के भारती ग्रुप (20 प्रतिशत) के मध्य एक संयुक्त उद्यम था, अब अडानी ग्रीन एनर्जी की सहायक कंपनी है।

यह सौदा अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में सबसे बड़े अधिग्रहणों में से एक है और एसबी एनर्जी इंडिया को 3.5 अरब डॉलर (26,000 करोड़ रुपये) के उद्यम मूल्यांकन पर रखता है। एसबी एनर्जी के अधिग्रहण के साथ एजीईएल का कुल पोर्टफोलियो 24.3 गीगावॉट है।

लगभग 1.84 लाख करोड़ रुपये के बाजार पूंजीकरण के साथ एजीईएल वर्तमान में अडानी समूह की सबसे मूल्यवान कंपनी है।

एजीईएल में प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी विनीत एस जैन ने कहा, “यह लेन-देन हमें अक्षय ऊर्जा में वैश्विक नेता बनने के निकट ले जाता है। एसबी एनर्जी इंडिया की ओर से इन उच्च-गुणवत्ता वाली बड़ी उपयोगिता-पैमाने की संपत्तियों को जोड़ने से कार्बन तटस्थ भविष्य की ओर परिवर्तन हेतु भारत के प्रयासों में तेजी लाने के लिए अडानी ग्रीन एनर्जी के इरादे का प्रदर्शन है। हमारी अक्षय ऊर्जा की नींव नए उद्योगों के पूरे पारिस्थितिकी तंत्र को सक्षम बनाएगी, जिससे कई क्षेत्रों में रोजगार सृजन को अधिक बढ़ावा देने की अपेक्षा की जा सकती है।”

गत सप्ताह ही अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी ने घोषणा की थी कि समूह आगामी 10 वर्षों में अक्षय ऊर्जा उत्पादन में 20 अरब डॉलर से अधिक का निवेश करेगा।