समाचार
पद्म पुरस्कार विजेताओं ने पहली बार नई दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का दौरा किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की एक पहल के अंतर्गत पहली बार सोमवार (21 मार्च) को सम्मानित किए गए पद्म पुरस्कार विजेताओं को आज (22 मार्च) राष्ट्रीय युद्ध स्मारक के भ्रमण पर लाया गया।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सोमवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित नागरिक अलंकरण समारोह-1 में वर्ष 2022 के लिए दो पद्म विभूषण, आठ पद्म भूषण और 54 पद्म श्री पुरस्कार प्रदान किए।

आज इन पद्म पुरस्कार विजेताओं ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक का दौरा किया।

गृह मंत्रालय की एक विज्ञप्ति के अनुसार, पुरस्कार विजेताओं ने स्मारक का भ्रमण किया और रक्षा बलों के उन कर्मियों के नाम देखने के लिए प्रेरित हुए, जिन्होंने वर्षों से देश की सीमाओं की रक्षा के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया और अपने प्राणों की आहुति दी।

विज्ञप्ति में कहा गया कि पुरस्कार विजेताओं ने यात्रा के आयोजन के लिए सरकार की पहल और स्मारक को राष्ट्रीय राजधानी में लोगों व बच्चों के घूमने के स्थान के रूप में लोकप्रिय बनाने के प्रयासों की सराहना की।

मंत्रालय के अनुसार, पुरस्कार विजेताओं ने अनुभव किया कि स्मारक की यात्रा से देशभक्ति, कर्तव्य के प्रति समर्पण, साहस और बलिदान के मूल्यों को विकसित करने और राष्ट्रवाद की भावना पैदा करने में सहायता मिलेगी।

राष्ट्रीय युद्ध स्मारक (एनडब्ल्यूएम) 25 फरवरी 2019 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा देश को समर्पित किया गया था। यह स्वतंत्रता के बाद से वीर सैनिकों द्वारा किए गए बलिदान का प्रमाण है।

गृह मंत्रालय की विज्ञप्ति में कहा गया कि स्मारक में शाश्वत लौ है, जो कर्तव्य के दौरान एक सैनिक द्वारा किए गए सर्वोच्च बलिदान का उदाहरण है, जिससे वह अमर हो जाता है।