समाचार
यूएनजीए में इमरान ने छेड़ा कश्मीर राग तो भारत बोला- “ओसामा को शरण देने वाले यही”

भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएनजीए) में कश्मीर पर झूठ फैलाने को लेकर इमरान खान को करारा जवाब दिया। भारत ने उत्तर देने के अधिकार का उपयोग कर कहा कि पाकिस्तान ही वह देश है, जिसने आतंकवादी ओसामा बिल लादेन को शरण दी थी। पाकिस्तान आग से लड़ने वाले के भेष में आग लगाने वाला देश है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, यूएनजीए में भारत की प्रथम सचिव स्नेहा दुबे ने कहा, “पड़ोसी देश के प्रधानमंत्री इमरान खान हमारे आंतरिक मामलों को लाकर वैश्विक मंच का दुरुपयोग कर रहे हैं। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख भारत का अविभाज्य भाग थे, हैं और हमेशा रहेंगे। इसमें वे क्षेत्र भी हैं, जो पड़ोसी देश के अवैध कब्ज़े में हैं। हम उसे भी तत्काल खानी करने का आह्वान करते हैं।”

उन्होंने कहा, “भारत के विरुद्ध दुर्भावनापूर्ण प्रचार करके इमरान खान अपने देश की दयनीय स्थिति छिपाने का प्रयास कर रहे हैं। वहाँ आतंकी खुलेआम घूमते हैं, जबकि अल्पसंख्यकों पर बर्बरता की जाती है। पड़ोसी देश आज भी ओसामा बिन लादेन को शहीद कर महिमामंडित करता है। वह आतंकियों को इसलिए पोषित करता है, ताकि वे उसके पड़ोसियों को नुकसान पहुँचाएँ। हमारे क्षेत्र और वास्तव में पूरे विश्व को उनकी नीतियों के कारण क्षति उठानी पड़ी है।”

स्नेहा दुबे ने कहा, “सदस्य देश जानते हैं कि पाकिस्तान आतंकियों का खुला समर्थन करता है। उन्हें हथियार मुहैया करवाता है। यूएनएससी द्वारा प्रतिबंधित सर्वाधिक आतंकियों को रखने का रिकॉर्ड उसके पास ही है।”

बता दें कि इमरान खान ने अपने संबोधन में कहा था कि पाकिस्तान, भारत के साथ शांति चाहता है। दक्षिण एशिया में स्थायी शांति जम्मू-कश्मीर विवाद के समाधान पर निर्भर है। पाकिस्तान के साथ सार्थक और परिणामोन्मुखी जुड़ाव के लिए अनुकूल माहौल बनाने की ज़िम्मेदारी भारत पर है।