समाचार
नरेंद्र मोदी को मारने की धमकी देने वाले इमरान मसूद कांग्रेस छोड़ सपा में जाने को तैयार

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पार्टी उपाध्यक्ष इमरान मसूद उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से पूर्व सपा में सम्मिलित होने के लिए तैयार हैं।

इमरान मसूद ने कहा, “वर्तमान राजनीतिक परिस्थितियों में हमें समान विचारधारा वाले लोगों के वोटों के विभाजन को रोकने के लिए सपा का समर्थन करने की आवश्यकता है। उत्तर प्रदेश को विकास और प्रगति के पथ पर लाने के लिए सुशासन प्रदान करने की आवश्यकता है।”

उन्होंने पार्टी नेताओं प्रियंका गांधी वाड्रा और राहुल गांधी का भी आभार व्यक्त करते हुए कहा, “उन्होंने मुझे बहुत सम्मान दिया लेकिन समान विचारधारा वाले युवाओं, महिलाओं व किसानों के वोटों के विभाजन को रोकने के लिए एक समान विचारधारा का समर्थन करने हेतु मिलकर काम करना समय की आवश्यकता है।”

उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनावों में विवादित बयान देते हुए नरेंद्र मोदी को मारकर टुकड़ों में करने की धमकी दी थी, जो कि भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार थे। इस पर मसूद पर आपराधिक आरोप लगे और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

2016 में मसूद को कांग्रेस पार्टी का उपाध्यक्ष नियुक्त किया गया। बाद में उन्हें पार्टी के राष्ट्रीय सचिव के रूप में पदोन्नत किया गया।

कुछ राजनीतिक पर्यवेक्षक मानते हैं कि इमरान मसूद, जो कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से निकटता और पार्टी के मुस्लिम चेहरे के रूप में देखे जाते हैं, का कांग्रेस छोड़ना उत्तर प्रदेश में पार्टी की पुनरुद्धार योजनाओं के लिए झटका होगा।

वह सहारनपुर के रहने वाले हैं और वहाँ से पाँच बार के कांग्रेस लोकसभा सांसद राशिद मसूद के भतीजे हैं। उनका मुसलमानों के बीच काफी दबदबा है, जो इस क्षेत्र की आबादी का 42 प्रतिशत हिस्सा हैं।

मसूद 2019 के लोकसभा चुनाव में सहारनपुर लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में लड़े हुए थे लेकिन हार गए थे।