समाचार
जम्मू-कश्मीर पुलिस सेवा पदक पर शेख अब्दुल्ला की बजाए अशोक स्तंभ की छवि होगी

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने उत्कृष्ट सेवा के लिए प्रदान किया जाने वाले पुलिस सेवा पदक से शेख अब्दुल्ला की छवि हटा दी है। इस निर्णय को नेशनल कॉन्फ्रेंस ने गलत बताया है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, इस संबंध में गृह मंत्रालय की ओर से आदेश दिया गया था। अब जम्मू-कश्मीर पुलिस सेवा पदकों में शेख अब्दुल्ला की बजाए देश के राष्ट्रीय चिह्न अशोक स्तंभ को उकेरा जाएगा।

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने कहा कि यह निर्णय जम्मू-कश्मीर के इतिहास को मिटाने का प्रयास है लेकिन शेख अब्दुल्ला हमेशा लोगों के दिलों में रहेंगे। प्रवक्ता इमरान नबी डार ने कहा, “राष्ट्रीय चिह्न के प्रति पूरा सम्मान व्यक्त करते हुए मैं कहूँगा कि केंद्र सरकार ने हमारे इतिहास और नायकों की पहचान मिटाने के प्रयास में यह कदम उठाया है।”

उन्होंने कहा, “भले जम्मू-कश्मीर प्रशासन और उनके उच्चाधिकारी कोई भी निर्णय ले लें लेकिन शेख अब्दुल्ला हमेशा लोगों के दिलों में रहेंगे। जम्मू-कश्मीर के लोग जहाँ भी हैं, उनके लिए उन्होंने लंबा संघर्ष किया है। उन्होंने हमेशा ही तानाशाही और उत्पीड़न के विरुद्ध जंग लड़ी है। इसे कोई परिवर्तित नहीं कर सकता है।”