विचार
ब्रह्मा से बुलेट ट्रेन तक- भारतीय सभ्यता के इतिहास को पर्दे पर उतारने के लिए विवेक अग्निहोत्री की पहल

भारतीय फिल्मकार व बेस्टसेलर पुस्तक अर्बन नक्सल्स के लेखक विवेक अग्निहोत्री ने अपनी अगली परियोजना की घोषणा करते हुए कहा कि वे भारतीय सभ्यता के इतिहास पर आधारित एक त्रयी (ट्राइलॉजी) पर काम कर रहे हैं।

250 करोड़ रुपए के अनुमानित व्यय वाली यह परियोजना के अगले 5-7 सालों में पूरी होने की अपेक्षा है। हाउस्टन, टेक्सास में आधारित हाल ही में बने एक दान संघ कर्मण्य स्टूडियो द्वारा वित्त पोषित किया जाएगा।

इतने महत्त्वपूर्ण और प्रचंड मुद्दे के लिए अग्निहोत्री एक बड़ा रिसर्च पैनल तैयार कर रहे हैं जिसमें अध्ययनकर्ता, शिक्षाविद, इतिहासकार, पुरातत्वविद, ज्योतिष शास्त्री और मानवविज्ञानी होंगे जो 2019 की ग्रीष्म से अपना कार्य प्रारंभ कर देंगे।

यह परियोजना उनके रचनात्मक जीवन का उद्देश्य बन गई है। वे माता सरस्वती को यह साहस प्रदान करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित करते हैं जिनके वे भक्त हैं। यह फिल्म उनकी अगली फिल्म द ताश्कंत फाइल्स  के बाद रिलीज़ होगी जो एक तीन साल के शोध के बाद लाल बहादुर शास्त्री जी की रहस्यमयी मृत्यु की घटना पर आधारित है।

वे कहते हैं कि यो विचार उनको यू के में अर्बन नक्सल्स पुस्तक की विमोचन यात्रा के दौरान आया। इस त्रयी में भारतीय सभ्यता के प्रारंभ से बताया जाएगा जहाँ पहले भाग में ब्रह्मा से बुद्ध तक का सफर किया जाएगा, दूसरे भाग में बुद्ध से ब्रिटिश राज तक और तीसरे में ब्रिटिश राज से बुलेट ट्रेन तक। परियोजना के अंतर्गत वेदों, रामायण, महाभारत, सिंधु घाटी और अन्य क्रमागत उन्नति की घटनाएँ जिन्होंने भारतीय सभ्यता को प्रभावित किया है, वे सम्मिलित होंगी।