समाचार
चिनूक हेलीकॉप्टर ने 7.30 घंटे में 1,910 किमी की बिना रुके सबसे लंबी उड़ान भरी

भारतीय वायुसेना के चिनूक हेवी-लिफ्ट हेलीकॉप्टर ने असम में चंडीगढ़ और जोरहाट के मध्य 1,910 किलोमीटर की दूरी को सफलतापूर्वक पूरा किया।

नई दिल्ली में रक्षा मंत्रालय के जनसंपर्क अधिकारी के अनुसार, यह भारत में सबसे लंबी बिना रुके हेलीकॉप्टर यात्रा है। इसने 7 घंटे 30 मिनट में उड़ान पूरी की।

रक्षा मंत्रालय ने बताया, “यह अभियान चिनूक की क्षमताओं और भारतीय वायुसेना द्वारा परिचालन योजना की वजह से संभव हो पाया है। इसकी गतिशीलता वायुसेना को इसके आवश्यकतानुसार बेहतर ढंग से नियोजित करने की अनुमति देगी।”

आगे कहा गया, “चिनूक एक बहु-भूमिका हेलीकॉप्टर है, जिसका उपयोग लोगों और सामग्री के परिवहन के लिए किया जाता है। यह मानवीय और आपदा राहत कार्यों में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।”

भारत के पास 15 सीएच-47एफ(आई) चिनूक परिवहन हेलीकॉप्टर हैं। हेलो को 2015 में नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा हस्ताक्षरित एक सौदे में खरीदा गया था।

पूर्वी लद्दाख में चल रहे गतिरोध के बीच यह हेलीकॉप्टर भारतीय सेना को अग्रिम पंक्ति में बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं।

चंडीगढ़ में वायु सेना स्टेशन पर तैनात यह हेलीकॉप्टर लगभग 11 टन माल या 45 सशस्त्र सैन्य टुकड़ियों को लाने-ले जाने में सक्षम है।