समाचार
श्रीलंका में महंगाई- ईंधन की प्रतिक्षा में चार घंटे से खड़े दो 70 वर्षीय वृद्धों की मृत्यु

श्रीलंका में बढ़ती महंगाई के मध्य इस द्वीप देश के दो अलग-अलग भागों में पेट्रोल और मिट्टी के तेल की प्रतीक्षा करते हुए 70 वर्ष की उम्र के दो वृद्धों की मृत्यु हो गई।

रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में पुलिस प्रवक्ता नलिन थल्डुवा के हवाले से कहा गया, “एक 70 वर्षीय तिपहिया चालक, जो मधुमेह व हृदय रोगी थे, जबकि दूसरा 72 वर्षीय वृद्ध था। दोनों ईंधन तेल के लिए लगभग चार घंटे से पंक्ति में प्रतीक्षा कर रहे थे।”

श्रीलंकाई कथित तौर पर गत कुछ सप्ताहों से पेट्रोल पंपों पर कई घंटों से पंक्ति में हैं। देश बिजली कटौती की समस्या से भी जूझ रहा है।

श्रीलंका ने रविवार को अपनी एकमात्र ईंधन रिफाइनरी में परिचालन भी बंद कर दिया क्योंकि उनके कच्चे तेल का भंडार खत्म हो गया था।

असलियत में, देश में मिट्टी के तेल की खपत बढ़ गई है। ऐसे में मूल्यों में वृद्धि के कारण कम आय वाले परिवार खाना पकाने के इस तेल के उपयोग से दूर हो रहे हैं।

फरवरी 2022 को श्रीलंका की मुद्रास्फीति और खाद्य मुद्रास्फीति का स्तर क्रमशः 15.1 प्रतिशत और 25.7 प्रतिशत के स्तर को छू गया।

रॉयटर्स ने अपनी रिपोर्ट में यह भी बताया कि देश के कुछ रेस्त्रां में एक कप दूध की चाय की कीमत 100 रुपये तक पहुँच गई है क्योंकि शनिवार तक दूध पाउडर की कीमत 400 ग्राम पैक के लिए 250 रुपये तक बढ़ गई है।