समाचार
बांग्लादेश के खुलना में हिंदू समुदाय पर हमला, चार मंदिरों की लगभग 10 मूर्तियाँ तोड़ी गईं

बांग्लादेश के खुलना जिले में उपद्रवियों ने अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के कम से कम चार मंदिरों, कुछ दुकानों और घरों पर हमला कर दिया। पुलिस ने 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ा दी है। घटना रूपशा उपजिला के शियाली गाँव में शनिवार (7 अगस्त) को हुई थी।

टाइम्स नाऊ नवभारत ने ढाका ट्रिब्यून के हवाले से बताया कि उपद्रवियों ने शियाली पुरबापारा क्षेत्र में हरि मंदिर, दुर्गा मंदिर और गोविंदा मंदिर की मूर्तियों को क्षतिग्रस्त किया। स्थानीय हिंदू समुदाय के लोगों की छह दुकानों और दो घरों में भी तोड़फोड़ की गई।

रूपशा उपजिला पूजा उद्यापन परिषद् के महासचिव कृष्ण गोपाल सेन ने बताया, “हमले में चार मंदिरों की लगभग 10 मूर्तियों को तोड़ा गया। क्षेत्र में तनाव है पर स्थानीय प्रशासन कुछ नहीं कर रहा।” कुछ हिंदू समुदाय के स्थानीय निवासियों का दावा है कि हमला करने वाले पड़ोसी शेखपुरा, बामनडांगा और चाडपुर क्षेत्रों से थे।

रूपशा पुलिस थाने के प्रभारी सरदार मुशर्रफ हुसैन ने बताया, “तनाव बढ़ता देख क्षेत्र में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया है। हम स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सक्रिय हैं।” स्थानीय मस्जिद के इमाम मौलाना नाज़िम उद्दीन ने बताया, “ईशा की नमाज़ के दौरान हिंदू कीर्तन गाते हुए शियाली महाश्मशान मंदिर की ओर जा रहे थे, जिसके कारण विवाद हुआ।”

उन्होंने बताया कि मैंने नमाज़ के दौरान मस्जिद के सामने कीर्तन नहीं गाने का अनुरोध किया तो किसी ने मुझे धक्का दे दिया और स्थिति बिगड़ गई। वहीं, कृष्ण गोपाल सेन का कहना है कि हिंदूओं की ओर से किसी ने इमाम को धक्का नहीं दिया।