समाचार
तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के मुखिया ने भारत से अच्छे संबंधों का आह्वान किया

अफगानिस्तान में सत्ता हथियाने के बाद पहली बार तालिबान ने अपने राजनीतिक कार्यालय के मुखिया शेर मोहम्मद अब्बास स्तानिकज़ई के माध्यम से भारत तक अपनी पहुँच बनाते हुए उसे एक महत्वपूर्ण देश बताया है। विऑन की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने नई दिल्ली के साथ अच्छे राजनयिक और आर्थिक संबंध बनाए रखने का भी आह्वान किया।

स्तानिकज़ई ने कहा, “भारत उपमहाद्वीप में एक बहुत ही महत्वपूर्ण देश है। हम उनके साथ अपने आर्थिक और राजनयिक संबंध जारी रखना चाहते हैं। हमारा व्यवसाय पाकिस्तान के माध्यम से भारत के साथ जुड़ा हुआ है और हम उस संपर्क को खुला रखना चाहते हैं।”

उन्होंने आगे कहा कि पाकिस्तान को दरकिनार कर काबुल और नई दिल्ली के बीच द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने के लिए 2017 में स्थापित किया गया एयर फ्रेट कॉरिडोर खुला रहेगा।

शेर मोहम्मद अब्बास स्तानिकज़ई ने यह भी कहा, “हम भारत के साथ अपने राजनीतिक, आर्थिक और व्यापारिक संबंधों को उचित महत्व देते हैं और हम चाहते हैं कि ये संबंध जारी रहें। हम इस संबंध में भारत के साथ काम करने की उम्मीद कर रहे हैं।”

स्तानिकज़ई ने पड़ोसी ईरान में रणनीतिक रूप से स्थित चाबहार बंदरगाह के लिए भी समर्थन दिया, जिसे भारत ने बनाया है। उन्होंने कहा कि व्यापारियों को बंदरगाह का उपयोग करना चाहिए। बंदरगाह के माध्यम से व्यापार के लिए कोई बाधा नहीं होगी।