समाचार
जीएसटी संग्रह दिसंबर में ₹1,29,780 लाख करोड़, गत वर्ष के इसी माह से 13% अधिक

दिसंबर 2021 के माह में सकल माल एवं सेवा कर (जीएसटी) राजस्व 1,29,780 करोड़ रुपये है। इसमें सीजीएसटी 22,578 करोड़ रुपये, एसजीएसटी 28,658 करोड़ रुपये, आईजीएसटी 69,155 करोड़ रुपये (आयात पर एकत्रित 37,527 करोड़ रुपये सहित) और उपकर 9,389 करोड़ रुपये (माल के आयात पर एकत्रित 614 करोड़ रुपये सहित) है। एक आधिकारिक विज्ञप्ति में शनिवार (1 जनवरी) को यह जानकारी दी गई।

वित्त मंत्रालय ने विज्ञप्ति में कहा कि निपटान के बाद दिसंबर 2021 के माह में केंद्र और राज्यों का कुल राजस्व सीजीएसटी के लिए 48,146 करोड़ रुपये और एसजीएसटी के लिए 49,760 करोड़ रुपये है।

दिसंबर 2021 के माह का राजस्व गत वर्ष के इसी माह में जीएसटी राजस्व से 13 प्रतिशत अधिक है और दिसंबर 2019 में जीएसटी राजस्व से 26 प्रतिशत अधिक है।

मंत्रालय ने कहा कि माह के दौरान माल के आयात से राजस्व 36 प्रतिशत अधिक था और घरेलू लेन-देन (सेवाओं के आयात सहित) से राजस्व गत वर्ष इसी माह के दौरान इन स्रोतों के राजस्व से 5 प्रतिशत अधिक था।

केंद्रीय और राज्य दोनों कर अधिकारियों द्वारा बेहतर कर अनुपालन और बेहतर कर प्रशासन के कारण अक्टूबर 2021 (7.4 करोड़) के माह की तुलना में नवंबर 2021 (6.1 करोड़) के माह में उत्पन्न ई-वे बिलों की संख्या में 17 प्रतिशत की कमी के बावजूद माह में जीएसटी संग्रह 1.30 लाख करोड़ रुपये के करीब है।

मंत्रालय ने कहा कि चालू वर्ष की तीसरी तिमाही में औसत मासिक सकल जीएसटी संग्रह 1.30 लाख करोड़ रुपये रहा, जबकि पहली और दूसरी तिमाही में औसत मासिक संग्रह क्रमश: 1.10 लाख करोड़ और 1.15 लाख करोड़ रुपये था।

मंत्रालय के अनुसार, राजस्व में सुधार जीएसटी परिषद द्वारा उल्टे शुल्क ढाँचे को ठीक करने के लिए किए गए विभिन्न दर युक्तिकरण उपायों के कारण भी हुआ है।