समाचार
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वीर चक्र से ग्रुप कैप्टन अभिनंदन वर्धमान को सम्मानित किया

बालाकोट हमले के नायक रहे अभिनंदन वर्धमान ने सोमवार (22 नवंबर) को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से वीर चक्र सम्मान प्राप्त किया। इसी माह उन्हें ग्रुप कैप्टन के तौर पर पदोन्नत किया गया।

पुरस्कार प्रशस्ति पत्र में कहा गया कि भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान पायलट को युद्ध के दौरान कर्तव्य की असाधारण भावना प्रदर्शित करने के लिए भारत के तीसरे सबसे बड़े युद्धकालीन वीरता पदक से सम्मानित किया गया।

बयान में कहा गया, “उनके कार्यों ने सामान्य रूप से सशस्त्र बलों और विशेष रूप से भारतीय वायुसेना का मनोबल बढ़ाया है।”

राष्ट्रपति भवन में आयोजित पुरस्कार समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और कई अन्य गणमान्य व्यक्ति सम्मिलित हुए। इस अवसर पर कई अन्य सैन्य अधिकारियों को भी सम्मानित किया गया।

राष्ट्रपति कोविंद ने विंग कमांडर (अब ग्रुप कैप्टन) वर्धमान अभिनंदन को वीर चक्र भेंट किया। राष्ट्रपति भवन ने ट्वीट किया, “उन्होंने विशिष्ट साहस दिखाया, व्यक्तिगत सुरक्षा को ना देखते हुए दुश्मन के सामने वीरता का प्रदर्शन किया और असाधारण कर्तव्य की भावना का परिचय दिया।”

बता दें कि 27 फरवरी 2019 को हुए हवाई संघर्ष में अभिनंदन वर्धमान ने मिग-21 एयरक्राफ्ट पर सवार होने के बाद उन्नत एफ-16 लड़ाकू विमान मार गिराया था। इसके बाद पाकिस्तानी एयरफोर्स की ओर से उनके विमान पर हमला किया गया था, जिससे वे पीओके में जा गिरे थे और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था।

हालाँकि, अगले ही दिन भारत के कूटनीतिक दबाव के उपरांत पाकिस्तान ने उन्हें सकुशल वाघा बॉर्डर पर छोड़ दिया था। मिग-21 एयरक्राफ्ट काफी पुराने हैं और उस पर सवार होने के बाद भी अत्याधुनिक फाइटर जेट एफ-16 को मार गिराने को लेकर अभिनंदन वर्धमान की जमकर प्रशंसा हुई थी और वे राष्ट्रीय नायक के तौर पर सामने आए थे।