समाचार
‘हील बाय इंडिया’ पहल के माध्यम से चिकित्सा पर्यटन को बढ़ावा देने की योजना

केंद्र सरकार हील बाय इंडिया पहल के माध्यम से भारत को स्वास्थ्य क्षेत्र के वैश्विक स्रोत के रूप में स्थापित करना चाहती है।

दि इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने हाल ही में दो दिवसीय चिंतन शिविर- हील बाय इंडिया कार्यक्रम आयोजित किया।

इस आयोजन के दौरान प्रमुख मुद्दों में से एक यह था कि भारतीय स्वास्थ्य क्षेत्र एक वैश्विक आपूर्तिकर्ता बन सके।

एएनआई को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “दो दिवसीय चिंतन शिविर में अंतर-राष्ट्रीय नियोक्ताओं के लिए भारत को प्रतिभावान कर्मचारी उपलब्ध कराने वाला स्रोत बनाने पर चर्चा हुई। साथ ही लोगों को विदेश में नौकरी दिलाने, विदेशियों को हमारे शिक्षण संस्थानों में गुणवत्तापूर्ण पढ़ाई के लिए आकर्षित करने का मास्टर प्लान बनाने पर भी चर्चा हुई।”

प्राथमिक और तृतीयक स्वास्थ्य सेवा में सुधार और देश में मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर के समग्र सुदृढ़ीकरण पर बाद में अधिक विस्तार से ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

इसके फलस्वरूप दुनिया भर के इच्छुक डॉक्टरों को भारत में अध्ययन करने का अवसर प्रदान करके डॉक्टरों की वैश्विक कमी को दूर करने के लिए भी चर्चा चल रही है।