समाचार
एयर इंडिया को केंद्र सरकार ने औपचारिक रूप से टाटा समूह को सौंप दिया

केंद्र सरकार ने गुरुवार (27 जनवरी) को आधिकारिक तौर पर एयर इंडिया को टाटा समूह को सौंप दिया। इस पर टाटा संस के अध्यक्ष एन चंद्रशेखरन ने कहा कि एयरलाइन को पुनः अपने पाले में पाकर समूह बहुत प्रसन्न हैं।

निवेश और सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) के सचिव तुहिन कांता पांडे ने संवाददाताओं को बताया, “एयर इंडिया को टाटा समूह की सहायक कंपनी टैलेस प्राइवेट लिमिटेड को सौंप दिया गया, जो सफल बोलीदाता है। अब एयरलाइन की नई मालिक टैलेस है।”

वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “एयरलाइन का रणनीतिक विनिवेश लेन-देन पूरा हो गया है। सरकार को रणनीतिक साझेदार टैलेस प्राइवेट लिमिटेड से 2,700 करोड़ रुपये प्राप्त हुए हैं। एयर इंडिया और एआईएक्सएल के 15,300 रुपये के ऋण के दायित्व सहित उसके शेयर (एयर इंडिया और इसकी अनुषंगी एआईएक्सएल के 100 प्रतिशत शेयर और एआईएसएटीएस के 50 प्रतिशत शेयर) रणनीतिक भागीदार को स्थानांतरित किए गए हैं।”

प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के बाद केंद्र सरकार ने गत वर्ष 8 अक्टूबर को एयर इंडिया को टैलेस प्राइवेट लिमिटेड को 18,000 करोड़ रुपये में बेच दिया था।

वित्त मंत्रालय ने कहा, “शेयर खरीद समझौते (एसपीए) पर 25 अक्टूबर 2021 को हस्ताक्षर किए गए थे। इसके बाद टैलेस प्राइवेट लिमिटेड, एयर इंडिया और सरकार ने एसपीए में परिभाषित शर्तों के एक सेट को संतुष्ट करने की दिशा में काम किया, जिसमें एंटी-ट्रस्ट बॉडीज, रेगुलेटर्स, लेंडर्स, तीसेर पक्ष आदि से स्वीकृति सम्मिलित है। इन शर्तों को तब से पारस्परिक संतुष्टि के लिए पूरा किया गया है।”

टाटा संस के अध्यक्ष एन चंद्रशेखरन ने कहा, “एयर इंडिया की अधिग्रहण प्रक्रिया पूरी हो गई। इसे टाटा समूह में वापस पाकर हम बहुत खुश हैं। इसे हम विश्व स्तरीय एयरलाइन बनाने के लिए सभी के साथ काम करने को लेकर आशान्वित हैं।”