समाचार
2025 तक 5 अरब डॉलर के रक्षा उपकरण बनाने का लक्ष्य- डीआरडीओ महानिदेशक

रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (डीआरडीओ) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने शुक्रवार (3 सितंबर) को बताया कि केंद्र सरकार की 2025 तक 5 अरब डॉलर के रक्षा उपकरण बनाने की महत्वाकांक्षा है।

इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, डीआरडीओ के महानिदेशक (प्रौद्योगिकी प्रबंधन) हरि बाबू श्रीवास्तव ने कहा कि इस उद्देश्य को पूरा करने के लिए स्टार्टअप्स को पूँजी देने हेतु कई योजनाएँ शुरू की गई हैं।

उन्होंने एमिटी यूनिवर्सिटी के एमटेक में रक्षा प्रौद्योगिकी पाठ्यक्रम के शुभारंभ के दौरान कहा कि इस पाठ्यक्रम में एमटेक अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) और डीआरडीओ के मध्य एक संयुक्त कार्यक्रम है।

डीआरडीओ के अधिकारी ने कहा कि इस महत्वाकांक्षा को साकार करने के लिए शुरुआत से ही दक्षता और उत्पादक लोगों की कुल संख्या बढ़ाने की आवश्यकता है। उन्होंने छात्रों को इस कार्यक्रम को पूरा करने के बाद स्वयं का अनुसंधान एवं विकास (आरएंडडी) स्टार्टअप आरंभ करने हेतु प्रोत्साहित किया।

हरि बाबू श्रीवास्तव ने रेखांकित किया कि इसका उद्देश्य हमारे हथियारों के साथ अगला युद्ध लड़ना होना चाहिए।