समाचार
नितिन गडकरी ने सड़क निर्माण में बेकार रबर और प्लास्टिक के उपयोग पर ज़ोर दिया

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि गुणवत्ता से समझौता किए बिना निर्माण लागत को कम करना होगा।

भारतीय इंफ्रास्ट्रक्चर द्वारा आयोजित भारत में सड़क विकास पर 17वें वार्षिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, “सड़क निर्माण में बेकार रबर और प्लास्टिक जैसे विभिन्न अपशिष्ट पदार्थों का उपयोग करने से सीमेंट और स्टील पर निर्भरता कम हो जाती है।”

सड़क निर्माण की गुणवत्ता बढ़ाने के उपाय के रूप में मंत्री ने कहा कि डीपीआर बनाने के लिए ठेकेदारों और कंपनियों की रेटिंग हेतु एक नीति तैयार करने का प्रयास किया जा रहा है।

नितिन गडकरी ने कहा कि इथेनॉल, मेथनॉल, बायोडीजल, बायो सीएनजी और इलेक्ट्रिक ग्रीन हाइड्रोजन भविष्य के ईंधन हैं। गडकरी ने कहा कि ये देश के लिए निर्माण सामग्री और वाहनों के ईंधन के लिए अधिक विकल्प और प्रतिस्पर्धा पैदा करने का समय है।

विकल्पों को प्रोत्साहित करने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता का संकेत देते हुए उन्होंने कहा कि बायोमास से कोलतार बनाने की नीति बनाने की योजना पर काम चल रहा है।

मंत्री ने सड़क सुरक्षा पर भी ज़ोर दिया और कहा कि सभी हितधारकों से और अधिक प्रयासों की आवश्यकता है।