समाचार
राम जन्मभूमि मंदिर की नींव का निर्माण हुआ पूरा, ट्रस्ट ने जारी की पहली झलक

राम मंदिर ट्रस्ट ने गुरुवार (16 सितंबर) को निर्माणाधीन मंदिर की पहली झलक जारी की। साथ ही यह पुष्टि की कि भव्य मंदिर की नींव का निर्माण अब पूरा हो गया है।

पहली बार पत्रकारों के सामने इसका प्रदर्शन करने वाले ट्रस्ट ने कहा कि भव्य दिव्य मंदिर की नींव रोलर-कॉम्पैक्ट कंक्रीट की 48वीं और अंतिम परत के साथ भर दी गई है।

रिपोर्ट के अनुसार, इन 48 परतों को कुल 11,000 क्यूबिक मीटर में भरा गया है। राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि पहला चरण पूरा हो चुका है और इस कंक्रीट आधार के ऊपर कर्नाटक से ग्रेनाइट व मिर्ज़ापुर के बलुआ पत्थर से बनी एक और परत स्थापित की जाएगी।

उन्होंने यह भी कहा कि राजस्थान के बंसी पहाड़पुर से एक लाख क्यूबिक फीट पत्थर के नक्काशीदार स्लैब निर्माण के अगले चरण के लिए तैयार हैं।

रिपोर्टों के अनुसार, राम मंदिर ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा ने कहा, “नींव में 50 फीट का गहरा गड्ढा किया गया था और प्रत्येक को 12 इंच की माप के साथ संकुचित सीमेंट की परतों से भरा गया था। इस नींव के ऊपर एक बेड़ा बनाया जाएगा, जिसके ऊपर मिर्ज़ापुर से लगभग 4 लाख क्यूबिक फीट का गुलाबी पत्थर से बना एक चबूतरा होगा।”

अगले चरण का काम आगामी दो महीनों में पूरा होने की अपेक्षा है, जबकि तीसरे चरण में तीन से चार महीने तक का समय लग सकता है। इस बीच, मंदिर के गर्भगृह के दिसंबर 2023 तक राम लला के अंदर बैठने और तीर्थयात्रियों के लिए खुलने की अपेक्षा है।