समाचार
टीकाकरण अभियान पर अब तक ₹9,725 करोड़ व्यय हुए- केंद्र का लोकसभा में उत्तर

राष्ट्रव्यापी कोविड-19 टीकाकरण अभियान को चलाने के लिए केंद्र सरकार ने अब तक 9,725.15 करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

दि इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, कुल राशि में से केंद्र सरकार ने टीके खरीदने के लिए 8,071.09 करोड़ रुपये खर्च किए। वहीं, शेष लगभग 1,654.06 करोड़ रुपये टीकों के प्रशासन में शामिल कार्यों पर खर्च हुए।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा शुक्रवार (23 जुलाई) को लोकसभा में यह जानकारी साझा की गई थी। मंत्रालय ने यह भी बताया कि जनवरी में अभियान शुरू होने के बाद से उसने टीकों की खरीद के लिए सात आदेश दिए हैं।

मंत्रालय ने लोकसभा को बताया कि टीकाकरण अभियान शुरू होने से छह दिन पूर्व दो वैक्सीन निर्माताओं भारत बायोटेक और सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को पहली सूचना 10 जनवरी को भेजी गई थी।

भारत ने 16 जनवरी को राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान शुरू किया था और तब से उसने इस कार्यक्षेत्र का काफी विस्तार किया है। उस वक्त जनवरी में प्रशासन के लिए केवल कोविशील्ड और कोवैक्सिन को स्वीकृति दी गई थी। उसके पश्चात अधिकारियों ने रूसी वैक्सीन स्पुतनिक-वी के उपयोग को भी स्वीकृति दे दी।