समाचार
नवंबर अंत तक ताप ऊर्जा संयंत्रों में करीब 18 दिनों का स्टॉक सुनिश्चित करें- कोयला मंत्री

केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने सोमवार (1 नवंबर) को कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) और उसकी सहायक कंपनियों से नवंबर के अंत तक ताप ऊर्जा संयंत्रों के साथ कम से कम 18 दिनों के कोयला स्टॉक को सुनिश्चित करने के लिए हरसंभव प्रयास करने का आग्रह किया।

सीआईएल के 47वें स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए कोयला मंत्री ने सीआईएल से 2024 के अंत तक एक अरब टन उत्पादन प्राप्त करने का आह्वान किया।

कोयला मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि प्रह्लाद जोशी ने कोयला सार्वजनिक उपक्रमों के सीएमडी को संशोधित लक्ष्य और इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए विस्तृत रणनीति तैयार करने का निर्देश दिया।

मंत्री ने बताया कि हाल ही में अंतर-राष्ट्रीय कोयले के मूल्यों में तीन गुना से अधिक की वृद्धि हुई है। इसके परिणामस्वरूप भारत में कोयले के आयात में 38 प्रतिशत की कमी आई है। साथ ही बिजली की मांग में 24 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है, जो मजबूत आर्थिक विकास का संकेत है।

सीआईएल की समर्पित जनशक्ति की सराहना करते हुए उन्होंने देश के विभिन्न हिस्सों में कोयला खदानों के अपने हालिया दौरों का स्मरण किया। उन्होंने कहा कि कोविड-19 की वजह से लॉकडाउन के दिनों में भी कोयला योद्धाओं ने देश की ऊर्जा सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए चौबीसों घंटे काम किया।

कोयला राज्य मंत्री रावसाहेब पाटिल दानवे, जिन्होंने वस्तुतः स्थापना दिवस और पुरस्कार समारोह को भी संबोधित किया, ने देश में उपलब्ध विशाल कोयला भंडार का उपयोग करने की आवश्यकता को रेखाँकित किया।

मंत्री ने कोल इंडिया लिमिटेड को हाल के उत्कृष्ट प्रदर्शन और कोविड-19 महामारी के दौरान विशेष रूप से सामाजिक जिम्मेदारी क्षेत्र में किए गए प्रयासों के लिए बधाई दी।