समाचार
चुनाव आयोग ने मतदान वाले राज्यों के लिए 15 विशेष पर्यवेक्षक नियुक्ति किए

भारत निर्वाचन आयोग (ईसीआई) ने गोवा, मणिपुर, पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों के लिए 15 विशेष पर्यवेक्षक नियुक्त किए।

विशेष पर्यवेक्षक अपने नियत राज्यों में चुनावी ढाँचे द्वारा किए जा रहे कार्यों की निगरानी करेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि खुफिया जानकारी और सीविजिल, मतदाता हेल्पलाइन आदि के माध्यम से प्राप्त शिकायतों के आधार पर सख्त, प्रभावी प्रवर्तन कार्रवाई की जाए।

चुनाव आयोग ने मंगलवार (1 फरवरी) को एक विज्ञप्ति में कहा, “15 पूर्व सिविल सेवकों, जिनके पास डोमेन विशेषज्ञता का त्रुटिहीन और शानदार ट्रैक रिकॉर्ड है और चुनाव प्रक्रियाओं के साथ पिछले अनुभव हैं, को वर्तमान चुनाव वाले राज्यों के लिए विशेष पर्यवेक्षकों के रूप में टीम में सम्मिलित किया गया है।”

राजस्थान कैडर के सेवानिवृत्त आईएएस मंजीत सिंह और हिमाचल कैडर के सेवानिवृत्त आईपीएस सोमेश गोयल क्रमशः गोवा के विशेष सामान्य पर्यवेक्षक और विशेष पुलिस पर्यवेक्षक होंगे।

एमपी कैडर के सेवानिवृत्त आईएएस प्रवीर कृष्ण, उप्र कैडर के सेवानिवृत्त आईपीएस अरुण कुमार और पूर्व आईआरएस अधिकारी राजेश टुटेजा क्रमशः मणिपुर के लिए विशेष जनरल, विशेष पुलिस और विशेष व्यय पर्यवेक्षक होंगे।

राजस्थान कैडर के पूर्व आईएएस अधिकारी विनोद जुत्शी, उप्र कैडर के पूर्व आईपीएस रजनीकांत मिश्रा और पूर्व आईआरएस अधिकारी हिमलिनी कश्यप क्रमशः पंजाब के लिए विशेष सामान्य पर्यवेक्षक, विशेष पुलिस पर्यवेक्षक और विशेष व्यय पर्यवेक्षक होंगे।

असम-मेघालय कैडर के सेवानिवृत्त आईएएस राम मोहन मिश्रा, पंजाब कैडर के पूर्व आईपीएस अनिल कुमार शर्मा और पूर्व आईआरएस मधु महाजन क्रमशः उत्तराखंड के लिए विशेष सामान्य पर्यवेक्षक, विशेष पुलिस पर्यवेक्षक और विशेष व्यय पर्यवेक्षक होंगे।

उत्तर प्रदेश के लिए बिहार कैडर के सेवानिवृत्त आईएएस अजय नायक विशेष सामान्य पर्यवेक्षक होंगे।

एजीएमयूटी कैडर के सेवानिवृत्त आईपीएस दीपक मिश्रा विशेष पुलिस पर्यवेक्षक होंगे और पूर्व आईआरएस अधिकारी बी मुरली कुमार और बी आर बालकृष्णन उत्तर प्रदेश के लिए दो विशेष व्यय पर्यवेक्षक होंगे।