समाचार
ईडी ने नकली टीकाकरण मामले में कोलकाता में देबंजन देब के 10 ठिकानों पर छापे मारे

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बुधवार (1 सितंबर) को नकली कोविड-19 टीकाकरण मामले में कोलकाता में 10 स्थानों पर छापेमारी की। खबर लिखे जाने तक कई जगहों से महत्वपूर्ण दस्तावेज़ जाँच एजेंसी ने जब्त किए हैं।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, प्रवर्तन निदेशालय के एक अधिकारी ने बताया कि छापे की कार्रवाई मुख्य आरोपी देबंजन देब से जुड़े मामले को लेकर की जा रही है।

बता दें कि 23 जून को नकली टीकाकरण शिविर संचालित करने के आरोप में देबंजन देब को गिरफ्तार किया गया था। कोलकाता उच्च न्यायालय ने भी बीते दिनों इस मामले में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली सरकार को जाँच की प्रगति पर एक रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश दिया था।

भाजपा का आरोप है कि कोलकाता नगर निगम की देखरेख में वैक्सीन की धोखाधड़ी कैसे हुई। नगर निगम के दस्तावेज़ों का उपयोग करके ऐसे कैंप संचालित किए गए थे।

आरोप है कि तृणमूल सांसद मिमी चक्रवर्ती सहित हजारों लोगों को कोविड-19 के टीकाकरण के नाम पर निमोनिया का इंजेक्शन लगा दिया गया था। ईडी का आरोप है कि देबंजन देब ने रुपयों का लेन-देन भी किया था। साथ ही उन पर लोगों के साथ धोखाधड़ी करने का आरोप है।