समाचार
अभिषेक बनर्जी व उनकी पत्नी को ईडी ने कोयला घोटाला मामले में नया समन जारी किया

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पश्चिम बंगाल में एक कथित कोयला घोटाले से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पूछताछ के लिए तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) सांसद अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी को नया समन जारी किया।

अधिकारियों ने इस संबंध में गुरुवार को जानकारी देते हुए कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी और उनकी पत्नी रुजीरा बनर्जी को अगले सप्ताह नई दिल्ली में जाँच अधिकारी के समक्ष प्रस्तुत होने के लिए कहा गया है।

दिल्ली उच्च न्यायालय ने 11 मार्च को दंपति की उस याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें उन्होंने समन को चुनौती दी थी। उन्हें ईडी के समक्ष प्रस्तुत होने को कहा गया था।

इससे पूर्व, उन्हें समन गत वर्ष 10 सितंबर को जारी किया गया था और दंपति ने न्यायालय से ईडी को निर्देश देने की मांग की थी कि उन्हें दिल्ली में प्रस्तुत होने के लिए नहीं बुलाया जाना चाहिए क्योंकि वे पश्चिम बंगाल के निवासी हैं।

ईडी ने गत वर्ष राष्ट्रीय राजधानी के एक एजेंसी कार्यालय में बनर्जी से एक बार इस मामले में पूछताछ की थी।

सीबीआई द्वारा दर्ज नवंबर 2020 की प्राथमिकी के आधार पर ईडी ने धन शोधन निवारण अधिनियम 2002 के प्रावधानों के अंतर्गत मामला दर्ज किया था। इसमें आसनसोल और उसके आसपास राज्य के कुनुस्तोरिया और कजोरा क्षेत्रों में ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड की खदानों से संबंधित करोड़ों रुपये का कोयला चोरी का आरोप लगाया गया था।

स्थानीय कोयला संचालक अनूप मांझी उर्फ ​​लाला को इस मामले में मुख्य संदिग्ध बताया जा रहा। ईडी ने दावा किया था कि 34 वर्षीय टीएमसी सांसद इस अवैध व्यापार से प्राप्त धन के लाभार्थी थे। हालाँकि, उन्होंने सभी आरोपों को गलत बताया है।