अर्थव्यवस्था
2018-19 में करोड़पति करदाताओं की संख्या में 20 प्रतिशत की वृद्धि- रिपोर्ट

भारत में आयकर करदाताओं की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है। 2018-19 में करदाता की संख्या 8.4 करोड़ हो गई है, जो पिछले वर्ष की तुलना में 13.8 प्रतिशत अधिक है।

लाइव मिंट की रिपोर्ट के अनुसार, 2017 में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) लागू होने के साथ ही करदाताओं की संख्या में वृद्धि देखी गई है। अनुमान है कि इसका कारण जीएसटी के तहत करों में की गई कमी हो सकती है।

इतना ही नहीं, आयकर संग्रह की राशि में भी बढ़ोतरी देखी गई है। वित्तीय वर्ष 2019 में पिछले तीन वर्षों की तुलना में सबसे अधिक वृद्धि दर्ज की गई है।

वहीं इकॉनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, 1 करोड़ रुपये से अधिक की सालाना आय वाले लोगों की संख्या 1.67 लाख है। यह वित्तीय वर्ष 2017-18 की तुलना में 19 प्रतिशत अधिक है।

अखबार ने सीबीडीटी रिपोर्ट के हवाले से बताया है कि 15 अगस्त 2019 तक कुल 5.87 करोड़ आयकर रिटर्न (आईटीआर) दाखिल किए गए हैं। 5.52 करोड़ से अधिक व्यक्तिगत, 11.13 लाख हिंदू अविभाजित परिवार, 12.69 लाख फर्म और 8.41 लाख कंपनियों ने आयकर रिटर्न दाखिल किया है।