अर्थव्यवस्था
बाज़ार में उमड़ता भारत, बनेगा विश्व का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता केंद्र- रिपोर्ट

वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम (डब्ल्यूईएफ) द्वारा जारी की गई एक रिपोर्ट के अनुसार 2030 तक भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा उपभोक्ता बाज़ार बन जाएगा और इससे आगे केवल यूएस और चीन ही होंगे।

रिपोर्ट कहती है कि उपभोक्ताओं द्वारा खर्च की जाने वाली राशि वर्तमान में 15 खरब डॉलर से बढ़कर 60 खरब डॉलर हो जाएगी और इसमें मुख्य भूमिका मध्यम वर्ग की होगी। “बढ़ती आय के कारण व्यय भी बढ़ेगा। भारत का नया उपभोक्ता अधिक संपन्न व खर्च करने के लिए तैयार होगा लेकिन साथ ही उसकी पसंद व आकाक्षाएँ भी विकसित होंगी।”, रिपोर्ट में कहा गया।

डब्ल्यूईएफ का यह भी मानना है कि मंदी की मार झेलने के लिए तीन की तुलना में भारतीय अर्थव्यलस्था अधिक तैयार है। भारत में घरेलु उपभोग की जीडीपी में 60 प्रतिशत भागीदारी है, वहीं चीन में यह मात्र 40 प्रतिशत है इसलिए भारतीय अर्थव्यवस्था अधिक सुरक्षित है।

रिपोर्ट के अनुसार ये 10 राज्य अगले दशक में भारतीय उपभोग को सर्वाधिक प्रभावित करेंगे- दक्षिण में केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना व तमिल नाडु, उत्तर में दिल्ली, हरियाणा और पंजाव व पश्चिम में महाराष्ट्र व गुजरात।

ग्रामीण क्षेत्रों में उपभोग शहरी क्षेत्रों की अपेक्षा अधिक तेज़ी से बढ़ेगा क्योंकि ग्रामीण समाज शहरी रहन-सहन का अनुसरण करने लगा है।