अर्थव्यवस्था
“लेन-देन”- पब्लिक सेक्टर बैंकों द्वारा दिए गए अधिक ऋण, साथ ही वसूली भी जारी

19 बड़े और मध्यम स्तरीय पब्लिक सेक्टर बैंक (पीएसबी) ने दिसंबर की तिमाही (वित्तीय वर्ष 2019 की तीसरी तिमाही) में 41,000 करोड़ रुपए का ऋण दिया जो कि इसी अवधी में वित्तीय वर्ष 2018 की तुलना में 34 प्रतिशत अधिक है, फाइनेन्शियल एक्सप्रेस  ने बताया।

इनमें से सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने 10,000 करोड़ रुपए का ऋण दिया जो कि 7 प्रतिशत की वृद्धि दर्शाता है। हालाँकि विजया बैंक की गैर निष्पादित संपत्ति (एनपीए) बढ़ी है और आईडीबीआई बैंक का भी अशोध्य ऋण बढ़कर 562 करोड़ रुपए पहुँच गया है। लेकिन पंजाब नेशनल बैंक, कॉर्पोरेशन बैंक, यूको बैंक, इलाहाबाद बैंक और आंध्रा बैंक जैसे पीएसबी में अशोध्य ऋण में कमी देखी गई है।

तीव्र वसूली

पिछली सरकारों द्वारा एनपीए के बिखराव को संभालते हुए एनडीए सरकारी की नीतियाँ फलीभूत हो रही हैं। आईबीसी द्वारा 2018 के अप्रिल से जून के मध्य 39,200 करोड़ रुपए के ऋण की वसूली की गई थी। यह पिछले दो सालों की वसूली 15,400 करोड़ रुपए व 23,500 करोड़ रुपए के योग से भी अधिक है।