समाचार
गाज़ियाबाद में पहले हज हाउस बनता था, हमने मानसरोवर भवन बनवाया- मुख्यमंत्री योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गाज़ियाबाद में घर-घर जाकर प्रचार किया और सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि यहाँ पहले हज हाउस बनता था, जबकि उनकी सरकार ने कैलाश मानसरोवर भवन का निर्माण करवाया।

योगी आदित्यनाथ ने दिन में साहिबाबाद के कृष्णा डेंटल कॉलेज और नेहरू नगर के सरस्वती शिशु मंदिर में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इसके अतिरिक्त, साहिबाबाद की राजीव कॉलोनी में घर-घर जाकर प्रचार किया।

उन्होंने कहा, “पहले गाज़ियाबाद में हज हाउस बनता था। हमारी सरकार ने कैलाश मानसरोवर भवन बनवाया। पहले माफिया व्यापारियों को परेशान करते थे लेकिन अब कोई भी माफिया किसी व्यापारी, डॉक्टर या किसी गरीब की संपत्ति हड़पने की हिम्मत नहीं कर सकता है।”

उन्होंने राज्य और केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाली सरकार को लेकर कहा, “पहले गरीबों का राशन उन तक नहीं पहुँचता था और यह खाद्यान्न माफिया के माध्यम से बांग्लादेश जाता था। आज खाद्यान्न गरीबों तक पहुँच रहा है और 15 करोड़ लोगों को मिल रहा है। डबल इंजन सरकार खाद्यान्न की डबल डोज उपलब्ध करवा रही है।”

गाज़ियाबाद में हज हाउस का उद्घाटन सितंबर 2016 में हुआ था, जबकि कैलाश मानसरोवर भवन का उद्घाटन दिसंबर 2020 में हुआ था। योगी आदित्यनाथ ने घरेलू उपभोक्ताओं को 300 यूनिट विद्युत मुफ्त देने के वादे को लेकर सपा पर निशाना साधते हुए कहा कि उनके शासन में विद्युत आपूर्ति ही नहीं थी।

उन्होंने कानून-व्यवस्था की स्थिति को लेकर विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा, “सपा-बसपा सरकारों के दौरान कोरोना वायरस नहीं था लेकिन कर्फ्यू अवश्य लगा था। हमारे समय में कोरोना है लेकिन कर्फ्यू नहीं है। सार्वजनिक जीवन सामान्य है। 2017 से पहले पश्चिमी उत्तर प्रदेश में क्या स्थिति थी? हर तरफ डर का माहौल था। शाम को कर्फ्यू जैसा माहौल हो जाता था।”