समाचार
यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने डच राजदूत को फटकार लगाई

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने यूनाइटेड किंगडम और उत्तरी आयरलैंड में डच राजदूत कारेल वैन ऑस्टेरोम को रूस और यूक्रेन युद्ध पर फटकार लगाते हुए कहा, “कृपया हमें ना बताएँ, हम जानते हैं कि हमें क्या करना है।”

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, टीएस तिरुमूर्ति ने यूएन सुरक्षा परिषद् में रूस व यूक्रेन युद्ध पर भारत का पक्ष रखा था। उन्होंने कहा कि इस युद्ध में कोई नहीं जीतेगा। भारत हमेशा शांति का पक्षधर रहा है। उन्होंने अपने बयान को ट्विटर पर साझा किया तो डच राजदूत ने यूक्रेन पर रूस की कार्रवाई के विरुद्ध यूएन में प्रस्ताव पर भारत के दूरी बनाने पर सवाल उठा दिया, जिस पर तिरुमूर्ति ने फटकार लगाई।

भारतीय प्रतिनिधि ने कहा, “यूक्रेन में संघर्ष की शुरुआत से ही भारत लगातार युद्ध को रोककर शांति और कूटनीति के मार्ग को अपनाने की अपील करता रहा है। इस युद्ध में महिलाओं, बच्चों व बुजुर्गों को क्षति पहुँची है। लाखों लोग बेघर हुए हैं। उन्हें पड़ोसी देश में शरण लेनी पड़ी है।”

उन्होंने आगे कहा, “भारत हमेशा शांति की ओर अग्रसर रहा है। इस युद्ध में कोई विजयी नहीं होगा, जबकि प्रभावित लोगों को क्षति होती रहेगी। कूटनीति पर असर पड़ेगा। भारत ने यूक्रेन के बूचा शहर में नागरिकों की हत्या की कड़ी आलोचना की। भारत यूक्रेन की पीड़ा को कम करने के सभी प्रयासों का समर्थन करता है।”