समाचार
ए राजा ने केंद्र को चुनौती देते हुए अलग तमिलनाडु की मांग पुनर्जीवित करने की धमकी दी

द्रमुक सांसद ए राजा ने केंद्र सरकार को चुनौती देते हुए हाल के एक भाषण में अलग तमिलनाडु की मांग को पुनर्जीवित करने की धमकी दी।

नमक्कल में एक स्थानीय कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा, “मैं केंद्र से हमें स्वायत्तता प्रदान करने का आग्रह करता हूँ। हम अपनी लड़ाई तब तक नहीं रोकेंगे, जब तक कि तमिलनाडु को राज्य की स्वायत्तता नहीं मिल जाती है।” वह तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के साथ मंच साझा कर रहे थे।

ए राजा ने कहा, “पेरियार थे, जिन्होंने पहले तमिलनाडु को भारत से अलग करने की वकालत की थी लेकिन उन्होंने भारत की लोकतंत्र और एकता के लिए मांग को अलग रखा। मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से आग्रह करता हूँ कि हमें मांग को पुनर्जीवित करने के लिए मजबूर ना करें। कृपया हमें राज्य की स्वायत्तता दें।”

भाजपा अध्यक्ष के अन्नामलाई ने अपमानजनक बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, “वादों को पूरा ना करने के बाद लोकप्रियता में गिरावट तमिलनाडु के मुख्यमंत्री को अपने निष्क्रिय प्रचार को आगे बढ़ाने की बजाय काम न करने का एक बेहतर बहाना बनाना चाहिए।”

अन्नामलाई ने कहा कि द्रमुक के पूर्व कैबिनेट मंत्री भ्रष्टाचार के आरोपों का सामना कर रहे हैं और उनकी इस तरह की धमकी देना हताशा का प्रदर्शन है।

डीएमके सरकार सत्ता में आने के बाद से कई विवादों के लिए चर्चा में है। इसमें हिंदू संस्कृति व रीति-रिवाजों को समाप्त करने, पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या में जमानत पर छूटे एक साजिशकर्ता का रेड कारपेट पर स्वागत, सरकार के भीतर भ्रष्टाचार जैसे कई मामले हैं।