समाचार
घरेलू कोयला उत्पादन में गत वर्ष की अपेक्षा 2022 में 28 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज हुई

2022-23 के वित्त वर्ष में 31 मई 2022 तक कुल घरेलू कोयला उत्पादन 13.785 करोड़ टन है, जो गत वर्ष की समान अवधि में 10.483 करोड़ टन के उत्पादन की अपेक्षा 28.6 प्रतिशत अधिक है।

इस प्रवाह को जून 2022 में भी बनाए रखा जाएगा क्योंकि कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) द्वारा कोयला उत्पादन गत वर्ष की समान अवधि में उत्पादन की तुलना में 28 प्रतिशत अधिक है।

2021-22 में 77.7 करोड़ टन के रिकॉर्ड तोड़ कोयला उत्पादन के बाद चालू वित्त वर्ष में घरेलू कोयला उत्पादन में लगातार वृद्धि हो रही है।

यह गौर किया जाना चाहिए चालू वित्त वर्ष के लिए घरेलू कोयला उत्पादन लक्ष्य 91.1 करोड़ टन है, जो गत वर्ष की तुलना में 17.2 प्रतिशत अधिक है।

कोयला मंत्रालय ने कहा, “घरेलू कोयला आधारित (डीसीबी) विद्युत संयंत्रों द्वारा सम्मिश्रण के लिए कोयले का आयात वर्ष 2021-22 में 81.1 लाख टन तक गिर गया था, जो गत 8 वर्षों में सबसे कम कोयला आयात है। यह पूरी तरह से घरेलू स्रोतों से कोयले की मजबूत आपूर्ति एवं घरेलू कोयला उत्पादन में वृद्धि के कारण संभव हुआ है।”

मंत्रालय के मुताबिक, अंतर-राष्ट्रीय बाज़ार में कोयले की ऊँची कीमत से कोयला आयात प्रभावित हुआ है। आयातित कोयला आधारित (आईसीबी) विद्युत संयंत्रों ने 2016-17 से 2019-20 तक प्रति वर्ष 4.5 करोड़ टन से अधिक का आयात किया था। हालाँकि, आईसीबी विद्युत संयंत्रों द्वारा कोयले का आयात 2021-22 में कोयले की ऊँची कीमतों की वजह से 1.89 करोड़ टन के निम्नतम स्तर तक गिर गया।