भारती
दुष्कर्म आरोपी एमआईएमआईएम कार्यकर्ता शकील दलित नाबालिग के पीछे महीनों से था

हैदराबाद की एक नाबालिग दलित लड़की, जिसने स्थानीय राजनीतिक पार्टी कार्यकर्ता पर दुष्कर्म के प्रयास का आरोप लगाया है, ने उजागर किया है कि विवाहित होने के बावजूद आरोपी उससे यौन संबंधों की माँग करता था और उसे सामूहिक दुष्कर्म की धमकी देता था।

आरोपी मोहम्मद शकील असदुद्दीन ओवैसी के नेतृत्व वाली ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन(एआईएमआईएम) का कार्यकर्ता है।

लड़की के परिवार और पड़ोसियों का कहना है कि आरोपी एआईएमआईएम के मलकपेट विधायक अहमद बिन अब्दुल्ला बलाला का निकट सहयोगी है और उनके पोस्टर शहर के कई हिस्सों में लगे हैं।

6 मई को चंदरघाट पुलिस थाने में शकील के विरुद्ध आईपीसी की धारा 448, 376 और 506 के तहत पॉक्सो (सौन अपराधों से बच्चों की सुरक्षा) और एससी/एसटी पर अत्याचार निरोध अधिनियमों के अधीन मामला दर्ज किया गया है।

उत्तरजीविका के कज़न की शिकायत पर क्रमांक 118/2010 में एफआईआर दर्ज की गई है। कथित अपराथ 5 और 6 मई की मध्यरात्रि को हुआ। एफआईआर के बयान में कहा गया कि लड़की और उसके कज़न का परिवार एक ही कॉलोनी में रहता है।

रात 2 बजे शिकायतकर्ता नल से पानी भर रहा था जब उसने कुछ आवाज़ सुनी। वह अपनी बहन के घर में घुस गया और देखा कि शकील शौचालय के बाहर खड़ा है। लड़की रो रही थी। जब उससे पूछा गया तो उसने कहा कि वह लड़की से शादी करना चाहता है।

इसपर विवाद उत्पन्न हुआ क्योंकि शकील पहले से ही विवादित है, बयान में कहा गया। इसके बाद शकील ने लड़की व उसके भाई को जातिसूचक अपशब्द कहे और खुद के एमआईएम के नेता होने का धौंस दिखाकर उन्हें परिणामों के लिए चेताया। हालाँकि इससे पहले कि वे पुलिस को बुलाते, वह भाग गया।

शिकायत में आगे कहा गया कि लड़की के अनुसार शकील उसका रास्ता रोकता था और महीनों से उसे परेशान कर रहा था, उससे यौन संबंधों की माँग कर रहा था। उस रात लड़की शौचालय गई थी जब शकील दीवार कूदकर अंदर आ गया।

लड़की और उसके भाई का परिवार कमल नगर नामक बस्ती में रहता है। यहाँ रहने वाले कई हिंदू परिवारों की तरह वे भी मडिगा जाति के हैं जो एक अनुसूचित जाति है। अधिकांश परिवार गरीब हैं। उत्तरजीविका घरों में काम करती है और उसका भाई ऑटोरिक्शा चलाता है।

आरोपी बस्ती से आधा किलोमीटर दूर रहता है। हालाँकि एफआईआर में उसकी उम्र 24 बताई गई है लेकिन लड़की के भाई ने संवाददाता को दूरभाष पर बताया कि वह 30 से अधिक आयु का है। “शकील विवाहित है और उसके बच्चे हैं। यह बात निश्चित है। हमें कहा गया है कि उसकी दो पत्नियाँ हैं।”, उसने कहा।

16 वर्षीय लड़की के बचपन में ही उसके माता-पिता का देहांत हो गया था। वह अपने दादा-दादी के साथ रहती है। उसका सगा भाई दूसरे शहर में रहता है। उसने संवाददाता को बताया, “शकील मुझे कई बार सामूहिक दुष्कर्म की धमकी दे चुका है। उसने ज़बरदस्ती अपना फोन नंबर भी मुझे दिया था। वह कहता था यदि मैं उसे फोन नहीं करूँगी तो वह अपने मित्रों को मेरा बलात्कार करने को कहेगा।”

लड़की ने कहा कि उसने अपने परिवार को यह बात कभी नहीं बताई क्योंकि उसके दादा-दादी वृद्ध व बीमार हैं और वह उनको परेशान नहीं करना चाहती थी।

स्वाति गोयल शर्मा स्वराज्य में वरिष्ठ संपादक हैं और वे @swati_gs के माध्यम से ट्वीट करती हैं।