समाचार
फोनपे ने नंवबर में 1 अरब से अधिक दुकानदारों के लेन-देन को संसाधित किया

डिजिटल भुगतान कंपनी फोनपे ने नवंबर 2021 में 100 करोड़ से अधिक लोगों से सीधे दुकानदारों (पी2एम) के लेन-देन को संसाधित किया। इसने भारत में लगभग 2.5 करोड़ किराना स्टोर और छोटे व्यापारियों को डिजिटल कर दिया।

फोनपे पर पी2एम लेन-देन में ऑफलाइन और ऑनलाइन स्टोर पर उपयोगकर्ताओं द्वारा किए गए सभी भुगतान और अन्य उपयोगिता भुगतान जैसे रिचार्ज, बिल भुगतान आदि सम्मिलित हैं।

कंपनी ने खुलासा किया कि गत वर्ष से ऑनलाइन मर्चेंट लेन-देन में 200 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है।

दि इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, फोन-पे का तेज़ी से विस्तार विभिन्न भौगोलिक क्षेत्रों में इसकी ऑफलाइन मर्चेंट स्वीकृति का परिणाम है, जिसे इसके 1.25 लाख मजबूत कार्यबल द्वारा भी सहायता मिली है।

बेंगलुरु की इस कंपनी ने पूरे देश में 2.5 करोड़ से ज्यादा किराना को अंकीकरण करने का लक्ष्य लिया था।

कंपनी ने अपने आधिकारिक बयान में खुलासा किया, “फोनपे के पास अब 15,700 कस्बों और गाँवों में एक व्यापारी नेटवर्क है, जो देश में 99 प्रतिशत पिन कोड को संगठित करता है।”

संस्थापक-सीईओ समीर निगम ने कहा, “फोनपे भारत के सबसे बड़े डिजिटल भुगतान मंच के रूप में उभरा है और हम सभी प्रमुख मैट्रिक्स पर उद्योग का नेतृत्व कर रहे हैं, जिसमें लेन-देन का मूल्य व मात्रा, पंजीकृत उपयोगकर्ता के साथ व्यापारी क्षेत्र सम्मिलित हैं।”