समाचार
सत्येंद्र जैन मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार, भाजपा-कांग्रेस की मंत्रीमंडल से हटाने की मांग

भाजपा और कांग्रेस ने सोमवार को दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी का स्वागत किया और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से उन्हें मंत्रिमंडल से हटाने को कहा।

ईडी के अधिकारियों ने सोमवार को कुछ घंटों की पूछताछ के बाद जैन को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) की आपराधिक धाराओं के तहत हिरासत में ले लिया।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि पार्टी ने पूर्व में आप और उनके नेताओं द्वारा भ्रष्टाचार का मुद्दा उठाया था।

उन्होंने कहा, “मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी पार्टी के नेताओं पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर हमेशा चुप्पी साधी है। ईडी द्वारा जैन की गिरफ्तारी पंजाब में आप के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री विजय सिंगला को गिरफ्तार किए जाने और निलंबित किए जाने के कुछ दिनों बाद हुई। लोग चाहते हैं कि केजरीवाल इस बारे में बोलें।”

गुप्ता ने कहा, “आप संयोजक हमेशा ईमानदारी की बात करते हैं लेकिन अब लोग जानना चाहते हैं कि वे जैन को अपने मंत्रिमंडल से कब हटाएँगे।”

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कुमार ने कहा, “जैन की गिरफ्तारी ईडी द्वारा उठाया गया सही कदम है। जैन को बहुत पहले गिरफ्तार किया जाना चाहिए था। केजरीवाल वर्षों से उनकी रक्षा कर रहे थे।”

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और पार्टी सांसद संजय सिंह सहित आप नेताओं ने भाजपा पर हमला करते हुए आरोप लगाया, “जैन को 8 वर्ष पुराने झूठे मामले में गिरफ्तार किया गया क्योंकि वह हिमाचल प्रदेश चुनावों के लिए आप के प्रभारी हैं। भगवा पार्टी को वहाँ आगामी चुनाव हारने का डर है।”

सत्येंद्र जैन को ईडी ने सात बार पहले भी समन भेजा था पर कभी गिरफ्तार नहीं की। संजय सिंह ने दावा किया कि हिमाचल प्रदेश में आप का प्रभारी बनाए जाने के बाद ईडी ने उन्हें पार्टी को बदनाम करने के लिए एक आधारहीन मामले में गिरफ्तार किया।