रक्षा
गन पावर- 3,60,000 आधुनिक कार्बाइन की खरीद के लिए भारतीय सेना ने शुरू की प्रक्रिया

पिछले वर्ष बंद स्थान पर युद्ध के लिए 94,000 कार 816 कार्बाइन (हल्की ऑटोमैटिक राइफल) की खरीद के समापन के साथ ही भारतीय सेना ने पूरक जानकारी मांगते हुए 3,60,000 कार्बाइन खरीदने की प्रक्रिया शुरू कर दी है, लाइवफिस्ट डिफेन्स  ने बताया।

ध्यान देने योग्य बात यह है कि सेना ने खरीद के लिए शर्त रखी है कि इनका निर्माण भारत में हो। ये कार्बाइन वर्तमान में सेना द्वारा उपयोग किए जा रहे 9एमएम गन का स्थान ले लेंगे। 3,60,000 कार्बाइन की खरीद के लिए काराकल, थेल्स390, आदि मॉडलों में प्रतिस्पर्धा देखी जा सकती है। सेना चाहती है कि इस बार अधिकांश कंपनियाँ इस ऑर्डर के लिए अपनी दावेदारी प्रस्तुत करें।

वर्तमान प्रमुख जनरल बिपिन रावत के नेतृत्व में शस्त्रों की खरीद के लिए फास्ट-ट्रैक प्रक्रिया अपनाई जा रही है। वर्तमान में उपयोग हो रही इनसास राइफल के स्थान पर लाने के लिए सौर एसआईजी716 से 72,000 हमलेवार राइफल भी खरीदी जा रही है।

इसके अलावा भारत और रूस 6,50,000 एक-103 राइफल के निर्माण के लिए साझेदार भी बन सकते हैं।