रक्षा
अब कश्मीर में आईएसआईएस? क्रूर हिंसा का वीडियो सोशल मीडिया पर

दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले में इस सप्ताह में भीषण हिंसा हुई जिसमें आतंकवादियों ने स्थानीय युवकों के अपहरण से लेकर हत्या जैसी वारदातों को अंजाम दिया। परेशान करने वाली एक नई चीज़ सामने आई है जिसमें दो अपहरण किए हुए युवकों की हत्या का वीडियो सोशल मीडिया पर डाला गया है, द ट्रिब्युन  ने रिपोर्ट किया।

इस तनावपूर्ण जिले में 15 नवंबर से आठ युवकों का अपहरण किया जा चुका है। जिन दो युवकों की आतंकावादियों ने हत्या की है, उनकी पहचान नदीम मंज़ूर (17) और हुज़ैफ अशरफ (19) के रूप में हुई है। हिजबुल मुजाहिद्दीन के मुखिया रियाज़ नाइकू का मानना था कि मंज़ूर सेना का सूचनादाता था।

6 नवंबर को हुई पिछली मुठभेड़ में दो हिजबुल आतंकवादियों को सेना ने मार गिराया था और हिजबुल मुखिया को नदीम पर संदेह था कि उसने सेना को सूचना दी है।

दूसरे युवक हुज़ैफ का गला कटा हुआ मिला जबकी नदीम के शरीर को गोली से छलनी किया गया था। एक लघु वीडियो ऑनलाइन डाला गया जिसमें एक नक़ाबपोश इंसान उनकी हत्या कर रहा था। वह पाँच युवकों के उस समूह का हिस्सा था जिनका 17 नवंबर को अपहरण हुआ था।

शोपियां के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संदीप चौधरी ने कहा “नदीम और हुज़ैफ दोनों ही निरपराध थे।” पुलिस को संदेह है कि इस क्रूर हिंसा के पीछे हिजबुल मुजाहिद्दीन का अब्बास मॉड्युल है।

संयोगवश सुरक्षा बलों ने 18 नवंबर को अल-बद्र के दो आतंकवादियों को मार गिराया है। अभी इस बात की जाँच होनी है कि इन दोनों में से कोई उल्लेखित युवकों की हत्या में शामिल था या नहीं।