रक्षा
स्वीकृत- दुश्मन के ठिकानों को निशाना बनाएँगे इज़रायल से प्राप्त ये घातक ड्रोन

रक्षा मंत्रालय ने मंगलवार (12 फरवरी) को भारतीय वायु सेना के लिए इज़रायल से 54 हारोप घातक ड्रोन की मांग की है, एएनआई  की रिपोर्ट में बताया गया। यह ड्रोन दुश्मन के उच्च-मूल्य के लक्ष्यों को क्रैश कर संपूर्ण विध्वंस करने में सक्षम है।पहले यह बताया गया था कि इन अतिरिक्त ड्रोनों को हासिल करने के लिए भारतीय वायु सेना पिछले सौदे में मौजूद अपने विकल्प खंड को विद्यमान करेगी।

भारतीय वायु सेना के पास वर्तमान में लगभग 110 ऐसे ड्रोन हैं और इस सौदे से इसकी मानव रहित हवाई क्षमता को और अधिक बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। इन ड्रोनों को दुश्मन के निगरानी ठिकानों और रडार स्टेशनों पर मंडराने के लिए इलेक्ट्रोऑप्टिकल सेंसर के साथ लगाया जाता है।

इस परियोजना का नाम बदलकर पी 4 रखा गया है और दोनों देशों के बीच मौजूदा ड्रोनों को उच्च गुणवत्ता वाले हमलावर बनाने हेतु एवं उनकी निगरानी क्षमताओं को बढ़ाने के लिए चर्चा जारी है।

इस उन्नयन परियोजना का नाम चीता दिया गया है। भारतीय सशस्त्र बल मेक-इन-इंडिया कार्यक्रम के तहत ड्रोन विकसित करने पर भी काम कर रहे हैं।