समाचार
कर्ज में डूबे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बोले, “हमारे आर्थिक हालात भारत से बेहतर हैं”

प्रधानमंत्री इमरान खान का मानना है कि पाकिस्तान के आर्थिक हालात भारत से बेहतर हैं। वहीं, देश में बढ़ी मुद्रास्फीति और विदेशी कर्ज पर विपक्ष लगातार हमलावर होते हुए इमरान खान के त्याग-पत्र की मांग कर रहा है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, इस्लामाबाद में मंगलवार को हुई इंटरनेशनल चैंबर्स समिट 2022 के उद्घाटन सत्र में इमरान खान ने कहा, “वित्तीय समस्या से जूझ रहे देशों विशेषकर भारत से अच्छी परिस्थिति पाकिस्तान की है।”

उन्होंने आगे कहा, “अब भी पाकिस्तान विश्व के अन्य देशों की अपेक्षा सबसे सस्ते देशों में से एक है। विपक्ष भले ही सरकार को बेकार बताती हो लेकिन वास्तविकता यह है कि हमारी सरकार ने देश को हर संकट से उबारा है।”

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा, “कई देशों की तुलना में देश में तेल का मूल्य कम है। हमने अंतर-राष्ट्रीय मुद्रा कोष से मांगी गई सहायता के तहत एक वित्त विधेयक भी संसद में पेश किया है। यदि यह विधेयक पास हो जाता है तो देश को एक अरब डॉलर की सहायता राशि देने का मार्ग स्पष्ट हो जाएगा।”

उधर, विपक्ष के नेता शाहबाज़ शरीफ ने इमरान खान को झूठा और बेइमान बताया है। उन्होंने कहा, “सरकार ने देश से पार्टी को मिले विदेशी चंदे की बात छिपाई है। ऐसे झूठे व्यक्ति को देश के प्रधानमंत्री पद पर रहने का कोई अधिकार नहीं है।”