समाचार
उन्नाव में दो माह से लापता दलित युवती का शव मिला, सपा के पूर्व मंत्री के बेटे पर आरोप

उन्नाव में दो माह से गायब दलित युवती का शव शहर के दोस्तीनगर स्थित दिव्यानंद आश्रम के पीछे सेप्टिक टैंक में कंबल से लपेटकर दफना दिया गया था। गुरुवार दोपहर को मामले का खुलासा हुआ। हत्या का आरोप पूर्व राज्यमंत्री रहे स्वर्गीय फतेहबहादुर सिंह के बेटे रजोल पर लगा है, जो जेल में बंद है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने जेल में बंद आरोपित से पूछताछ के बाद खोदाई करवाकर शव को बरामद किया।

एसपी दिनेश त्रिवेदी ने बताया, “घटना वाले दिन रजोल ने युवती को झांसा देकर आश्रम के पास बुलाया था। वहाँ साथियों के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी और कंबल में लपेटकर शव टैंक में दफना दिया था। मामले में अब हत्या सहित कई धाराएँ बढ़ाई जाएँगी।”

उन्नाव में सपा सरकार में पूर्व राज्यमंत्री के बेटे रजोल सिंह पर दो माह पूर्व कांशीराम कॉलोनी की महिला रीता ने बेटी पूजा के गायब होने का आरोप लगाया था। पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की पर कोई कार्रवाई नहीं की थी। इस पर पीड़िता की मां ने लखनऊ में अखिलेश यादव के काफिले के आगे कूदकर जान देने का प्रयास किया था।

इसके बाद पुलिस ने रजोल को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 4 फरवरी को रजोल को रिमांड पर लेकर 8 घंटे पूछताछ की गई तो उसके साथ हरदोई थाना मुबारकपुर के नवा गाँव निवासी सूरज के बारे में पता चला। पुलिस ने आरोपी के आश्रम के पीछे प्लॉट में स्थित सेप्टिक टैंक के गड्ढे की खोद करवाई तो वहाँ से युवती का शव बरामद हुआ।