समाचार
1,563 पीएसए ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों को स्वीकृति दी गई, 1,463 हो चुके चालू- केंद्र

केंद्र सरकार ने शुक्रवार (10 दिसंबर) को संसद को जानकारी दी कि 1,563 पीएसए ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों को स्वीकृति दी गई, जिनमें से 1,463 चालू किए गए हैं।

इन अधिकृत किए गए संयंत्रों में 1,225 पीएसए संयंत्र सम्मिलित हैं, जिन्हें देश के हर जिले में पीएमकेयर फंड के तहत स्थापित और चालू किया गया है।

केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण राज्यमंत्री भारती प्रवीण पवार ने लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में कहा, “इसके अतिरिक्त, अब तक 338 पीएसए संयंत्र पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्रालय, विद्युत मंत्रालय, कोयला मंत्रालय, रेल मंत्रालय आदि के सार्वजनिक उपक्रमों द्वारा स्थापित किए गए हैं।”

उन्होंने बताया कि राज्यों को सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में पीएसए संयंत्र स्थापित करने और निजी स्वास्थ्य सुविधाओं में इनकी स्थापना की सुविधा देने के लिए भी कहा गया।

यह विकास देश में नए कोरोनावायरस के प्रकार ओमिक्रॉन के मामलों में वृद्धि को देखते हुए आया है।

भारती प्रवीण पवार ने आगे बताया कि आपातकालीन प्रबंधन योजना और रणनीति पर सरकार द्वारा गठित अधिकार प्राप्त समूह ने सिफारिश की थी कि ऑक्सीजन की मांग की गणना के लिए गैर-आईसीयू और आईसीयू सेटिंग में ऑक्सीजन प्रवाह की आवश्यक दर क्रमशः 10 और 24 लीटर प्रति मिनट प्रति दिन प्रति केस है।

उन्होंने बताया कि इस आधार पर ये संयंत्र प्रतिदिन 1,00,000 से अधिक बिस्तरों को सुविधा दे सकते हैं।

पवार ने जानकारी दी कि केंद्र सरकार द्वारा पीएमकेयर्स के तहत पीएसए संयंत्रों की आपूर्ति और इन्हें शुरू किया गया है। राज्यों ने स्थान, 3-फेज़ विद्युत आपूर्ति, निर्बाध विद्युत आपूर्ति के लिए डीजी सेट और पीएसए संयंत्र के साथ अंतः संबंधन हेतु मेडिकल गैस पाइपलाइन सिस्टम (एमजीपीएस) की उपलब्धता प्रदान की।