समाचार
2 से 18 वर्ष की आयु वालों को शीघ्र ही लग सकेगा कोवैक्सीन का टीका, मिल गई स्वीकृति

2 से 18 वर्ष तक की आयु के बच्चों व किशोरों को कोवैक्सीन का टीका लगाया जा सकेगा। भारत बायोटेक व आईसीएमआर द्वारा संयुक्त रूप से मिलकर बनाई गई वैक्सीन को अनुमति मिल गई है। यह क्लीनिकल परीक्षण में लगभग 78 प्रतिशत प्रभावशाली साबित हुई है।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, कहा जा रहा है कि शीघ्र ही केंद्र सरकार की ओर से इसको लेकर दिशा-निर्देश जारी किए जाएँगे। उसके बाद टीका लगना आरंभ हो जाएगा। अब तक हुए परीक्षण में बच्चों से लेकर किशोरों तक को किसी तरह की कोई समस्या नहीं आई है।

कहा जा रहा है कि उन बच्चों को पहले वैक्सीन लगाई जा सकती है, जिनको अस्थमा आदि की समस्या है। सरकारी अस्पतालों में यह टीका निःशुल्क लगाया जाएगा। इसके टीके के लगने की शुरुआत के साथ कोरोना संक्रमण को और अधिक कम किया जा सकेगा।

चिकित्सकों का कहना है कि बड़ों की तरह ही बच्चों व किशोरों को भी टीका लगना चाहिए। उन्हें पहले टीका लगना चाहिए, जिनको संक्रमण होने का अधिक खतरा है। बच्चों को टीका लगने के बाद स्कूल भी पूरी तरह से आसानी से खोले जा सकेंगे।

बता दें कि अब तक देश में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाया जा रहा है। देश में अब तक 95 करोड़ कोविड-19 टीके लगाए जा चुके हैं।