समाचार
कोवैक्सीन के 3 जनवरी से 15-18 वर्ष के आयु वर्ग हेतु उपलब्ध वैक्सीन रहने की संभावना

आगामी वर्ष 2022 की 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष की आयु वर्ग वाले किशोरों को दिए जाने वाले कोविड-19 टीके के लिए सिर्फ भारत बायोटेक के कोवैक्सीन टीके ही उपलब्ध रहने की संभावना है।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, सरकारी सूत्रों ने बताया कि इसके साथ स्वास्थ्य व अग्रिम मोर्चे के कर्मचारियों और गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले लोगों को तीसरी खुराक उसी टीके की लगाई जाएगी, जिसकी उन्हें पहले दो खुराक दी गई हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार रात टेलीविजन पर राष्ट्र के नाम संबोधन में घोषणा की थी कि 15 से 18 वर्ष के किशोरों के लिए कोविड-19 के विरुद्ध टीकाकरण 3 जनवरी से आरंभ होगा, जबकि स्वास्थ्य देखभाल और अंग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं को एहतियाती खुराक 10 जनवरी से दी जाएगी। वायरस के ओमिक्रॉन संस्करण से जुड़े कोविड के बढ़ते मामलों के बीच निर्णय आए हैं।

एक सरकारी सूत्र ने बताया कि भारत बायोटेक की कोवैक्सीन अभी एकमात्र कोविड-19 रोधी टीका है, जिसे 3 जनवरी से 15 से 18 वर्ष तक के किशोरों को लगाया जाएगा। इस श्रेणी में अनुमानित जनसंख्या 7 से 8 करोड़ है।

सूत्रों ने बताया कि ज़ाइडस कैडिला का टीका जैकोव-डी को देश के टीकाकरण कार्यक्रम में अब तक सम्मिलित नहीं किया गया। यहाँ तक कि वयस्क आबादी के लिए भी इसे सम्मिलित नहीं किया गया। हालाँकि, डीसीजीआई ने इसे 20 अगस्त को आपात स्थिति में उपयोग करने की स्वीकृति दे दी थी। इससे यह देश में पहला टीका बन गया था, जिसे 12 से 18 वर्ष के आयु वर्ग को लगाया जा सकता है।