समाचार
भारतीय सेना ने नए वर्ष पर गलवान घाटी में तिरंगा फहराकर चीन को दिया जवाब

भारतीय सेना ने नए वर्ष के अवसर पर पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में तिरंगा फहराया। नए वर्ष की पूर्व संध्या पर भारतीय जवानों ने ऐसा किया था।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय सेना की ओर से यह कदम उन खबरों के मध्य उठाया गया, जिसमें दावा किया गया था कि चीनी सैनिकों ने कुछ दिन पूर्व इस क्षेत्र में अपना ध्वज फहराया था।

चित्रों को केंद्रीय कानून एवं न्याय मंत्री किरण रिजिजू ने भी ट्विटर पर हैशटैग न्यूईयर2022 के अवसर पर गलवान घाटी में भारतीय सेना के बहादुर जवानों के शीर्षक के साथ पोस्ट किया था।

भारतीय सुरक्षा प्रतिष्ठान में सूत्रों द्वारा जारी एक चित्र में लगभग 30 भारतीय सैनिकों को राष्ट्रीय ध्वज के साथ देखा गया।

बता दें कि चीनी मीडिया और सोशल मीडिया के उपयोगकर्ताओं ने हाल ही में एक वीडियो जारी किया था। इसमें चीनी सेना अपने देश का झंडा फहराती नज़र आ रही थी। चीनी सोशल मीडिया उपयोगकर्ताओं का दावा था कि उनकी सेना ने यह झंडा गलवान में हुई हिंसा वाली जगह पर फहराया था।

इससे पूर्व, रिपोर्टों में बताया गया कि चीनी सरकार ने नए सीमा कानून को लागू करने से दो दिन पूर्व अपने मानचित्र में अरुणाचल प्रदेश में 15 स्थानों का नाम बदलने की मांग की थी। इस पर भारत ने कहा था कि अरुणाचल प्रदेश सदा भारत का अभिन्न अंग रहा है और रहेगा। नए नाम रखने से इस तथ्य को कोई परिवर्तित नहीं कर सकता है।