समाचार
कांग्रेस मानती है कि अमरिंदर सिंह हिंदू मतदाताओं के ध्रुवीकरण का लक्ष्य लेकर हैं चल रहे

कांग्रेस इस बात को जानती है कि पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अगले वर्ष राज्य में होने वाले विधानसभा चुनावों में उनकी पार्टी की संभावनाओं को क्षति पहुँचाने के लिए शहरी क्षेत्रों में हिंदू मतदाताओं के वोट खींचने का लक्ष्य लेकर चल रहे हैं।

कैप्टन सिंह अपनी स्वयं की पार्टी बनाएँगे और संभवत: भाजपा के साथ गठबंधन भी कर सकते हैं। टाइम्स ऑफ इंडिया द्वारा उद्धृत कांग्रेस के सूत्रों का मानना ​​​​है कि पूर्व मुख्यमंत्री सोनिया गांधी के नेतृत्व वाली पार्टी के विरुद्ध हिंदू मतदाताओं का ध्रुवीकरण कर रहे हैं।

कथित तौर पर पंजाब के कुछ शहरों और कस्बों में हिंदू आबादी एक महत्वपूर्ण वोट बैंक है।

कइयों का मानना ​​है कि कैप्टन कांग्रेस के विरुद्ध जनसांख्यिकीय स्थिति को भड़काएँगे और पाकिस्तानी सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के साथ नवजोत सिंह सिद्धू की निकटता को उजागर करके पाकिस्तान के साथ देश की सुरक्षा की स्थिति से संबंधित खतरों को भी उठाएँगे।

कांग्रेस भी अपने शहरी मतदाताओं को पूर्व मुख्यमंत्री की कार्ययोजना को बेअसर करने के लिए अपने मुख्यधारा के झुकाव का आश्वासन देगी।

दूसरी ओर, यह बताया गया है कि कैप्टन लंबे समय से चल रहे किसान विरोधों का समाधान निकाले बिना भाजपा के साथ गठबंधन करने के बारे में नहीं सोच सकते।