समाचार
दिल्ली-मुंबई औद्योगिक गलियारा में कंपनियों ने 16,000 करोड़ से अधिक का निवेश किया

दिल्ली-मुंबई औद्योगिक गलियारा (डीएमआईसी) के भाग के रूप में गुजरात, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में चार ग्रीनफील्ड औद्योगिक स्मार्ट नोड्स विकसित किए गए हैं।

इन औद्योगिक नोड्स में प्रमुख बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर का कार्य पूर्ण हो चुका है। इसमें 138 भूखंडों में 754 एकड़ भूमि सम्मलित है, जो कंपनियों को 16,750 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश के साथ आवंटित की गई हैं।

वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय ने कहा, “इन नोड्स के प्रमुख निवेशकों में दक्षिण कोरिया से ह्योसुंग, रूस से एनएलएमके, चीन से हैयर, टाटा केमिकल्स एवं अमूल जैसी कंपनियाँ सम्मिलित हैं। इसके अतिरिक्त, अन्य औद्योगिक गलियारे में 23 परियोजनाएँ योजना एवं विकास के विभिन्न चरणों में हैं।”

देश की समग्र जीडीपी में विनिर्माण की हिस्सेदारी बढ़ाने एवं व्यवस्थित व नियोजित शहरीकरण सुनिश्चित करने हेतु भारत सरकार ने राज्य सरकारों के साथ साझेदारी में परिवहन संपर्क इंफ्रास्ट्रक्चर के आधार पर समेकित औद्योगिक गलियारा विकसित करने की रणनीति अपनाई है।

औद्योगिक गलियारा कार्यक्रम के तहत उद्वेश्य उद्योगों को गुणवत्तापूर्ण, भरोसेमंद, टिकाऊ और अनुकूल इंफ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध कराने के माध्यम से देश में विनिर्माण निवेशों को सुगम बनाने हेतु सतत ‘प्लग एन प्ले’ आईसीटी सक्षम यूटिलिटीज के साथ ग्रीनफील्ड स्मार्ट औद्योगिक नगरों का निर्माण करना है। भारत सरकार ने चार चरणों में विकसित किए जाने वाले 11 औद्योगिक गलियारों को स्वीकृति दी है, जिनमें 32 परियोजनाएँ सम्मिलित हैं।